दो गांव, ​एक महिना और चालीस मौतें? अब स्वास्थ्य विभाग मांग रहा सबूत

Noida, Uttar Pradesh, India
दो गांव, ​एक महिना और चालीस मौतें? अब स्वास्थ्य विभाग मांग रहा सबूत

दो गांवों में इस रहस्यमयी बुखार ने अपना कहर बरपा रखा है

मुरादाबाद। जनपद के दो गांवों में रहस्यमयी बुखार ने अपना कहर बरपा रखा है। ग्रामीण पिछले एक महीने में 40 मौतों का दावा कर रहे हैं। जबकि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में 15 मौत ही हुई है। सच्चाई जो भी हो लेकिन रतनपुर कला और महलकपुर माफी दोनों गांवों के लोग दहशत में है। गांव में एक प्राथमिक चिकित्सालय है लेकिन वो खंडहर हो चुका है। वहीं स्वास्थ्य विभाग अभी भी गहरी नींद में है। उसे शायद अभी और मौतों का इंतजार है।

जिला मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर रतनपुर कला और महलकपुर माफी गांव के ग्रामीण इन दिनों सहमे हुए हैं। दोनों गांवों के लगभग हर घर में मातम का माहौल है। जिसका कारण है गांव में फैला रहस्यमयी बुखार। ग्रमीणों का दावा है कि दोनों ही गांवों में अब तक 40 मौतें हो चुकी है। मरने वालों में बच्चे और बड़े भी सभी शामिल हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग कोई सुनवाई नहीं कर रहा है।

बता दें कि यहां एक ही परिवार के 4 लोगों की भी एक साथ मौत हो चुकी है। जबकि गांव में मौजूद सरकारी अस्पताल खंडहर बन चुका है। जहां कोई भी सरकारी स्टाफ नहीं बैठते हैं। ग्रामीणों ने बुखार के इस कहर के लिए स्वा​स्थ्य विभाग के अधिकारियों को जिम्मेवार ठहराया है। इतना सब कुछ होने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गहरी नींद में है।

हालांकि ग्रामीणों के दावे के अनुसार स्वास्थ्य विभाग का आकड़ा इससे काफी कम है। अब इस पर भी सवाल उठना लाजिमी है। क्योंकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी 15 मौतों की बाते ही कर रहे हैं। वहीं उनका दावा है कि बुखार से कभी किसी की मौत हो ही नहीं सकती। अब ये बात ही साफ जाहिर करती है कि अधिकारी कितने संवेदनशील है। बुखार को रोकने के लिए उनके दावे बड़े-बड़े हैं लेकिन वो सिर्फ कागजों में दिखाई देते हैं। जबकि धरातल पर स्थिती बद से बदतर है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned