यूपी में कर्ज से परेशान एक और किसान ने की आत्‍महत्‍या

Noida, Uttar Pradesh, India
यूपी में कर्ज से परेशान एक और किसान ने की आत्‍महत्‍या

प्रथमा बैंक का तीन लाख रुपये का कर्ज न चुकाने के चलते लगाया फंदा

अमरोहा. जिले के रजबपुर थाना क्षेत्र के गांव महेशरा में एक किसान द्वारा आत्‍महत्‍या करने का मामला प्रकाश में आया है। जानकारी के अनुसार किसान का शव पेड़ से लटका मिला है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर ग्रामीणों ने पीड़ित परिवार को सरकारी मदद दिलाए जाने की मांग की है। वहीं किसान की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि किसान पर तीन लाख रूपए का बैंक का कर्ज था। जिसको चुकाने में असमर्थ होने के चलते उसने फंदा लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली।

यह भी पढ़ें- जब फेरों पर खुला दूल्‍हे का ये राज, दुल्‍हन ने किया शादी से इनकार

जानकारी के मुताबिक गांव महेशरा निवासी किसान शाकिर 25 बीघा जमीन पर खेती किसानी कर परिवार को पालन पोषण कर रहा था। उसके दो बेटों में बड़ा बेटा नौशाद पैर से दिव्यांग है। जबकि छोटा बेटा मुन्साद खेती में हाथ बंटाता है। रविवार की सुबह करीब साढ़े 11 बजे खेत पर जाने के लिए घर से निकला था। करीब 12.30 बजे अपने ही खेत में पेड़ पर शाकिर का शव लटका मिला। गले में खुद के ही अंगोछे का फंदा कसा था। पास-पड़ोस के खेतों में मौजूद ग्रामीणों की नजर पड़ी तो शोर मच गया। ग्रामीण दौड़कर खेत की ओर भागे। इसके बाद किसी ने पुलिस को सूचना दे दी।

यह भी पढ़ें- महिला से अवैध संबंध बने युवक की मौत का कारण, जानिये पूरा मामला

मृतक किसान के बेटे अनीस ने बताया कि उसके चाचा शाकिर ने दो साल पहले प्रथमा बैंक से तीन लाख रुपये का ऋण लिया था। ऋण चुकता करने को लेकर काफी दिन से परेशान चल रहे थे। ऋण निपटाने के लिए कुछ जमीन भी बेचने की बात भी घर में चल रही थी। उधर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर पेड़ पर लटका शव नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रथमा बैंक रजबपुर के शाखा प्रबंधक अशोक कुमार ने बताया कि कर्ज माफी की घोषणा होने के बाद बैंक से किसी भी किसान को न तो नोटिस भेजा गया है और न ही किसी किसान पर कर्ज वसूली का दबाव बनाया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned