EXCLUSIVE VIDEO- भारतीय पर्वतारोही ने एवरेस्‍ट पर फहराया तिरंगा पर जिंदगी की जंग हार गया

Noida, Uttar Pradesh, India
 EXCLUSIVE VIDEO- भारतीय पर्वतारोही ने एवरेस्‍ट पर फहराया तिरंगा पर जिंदगी की जंग हार गया

पर्वतारोही के आखिरी वीडियो को देखकर नम हुई सभी की आंखें

मुरादाबाद। बीती 21 मई को शहर के पर्वतारोही रवि कुमार दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट फतह करने के बाद बालकनी एरिया से लपाता हो गए थे, जिसके बाद उनके बचने की उम्मीद भी खत्म होती जा रही थी। विदेश मंत्रालय के दखल के बाद नेपाल सरकार के सहयोग से रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद रवि का शव 8500 मीटर ऊपर से नीचे 200 फीट गहरी खाई से बरामद किया गया। देर रात रवि का शव महानगर लाया गया तो सभी की आंखें नम हो गईं। वहीँ उनके साथ गए शेरपा ने रवि के परिजनों को उसका एवरेस्ट फतह करने के बाद वीडियो सौंपा तो उसे देख किसी के भी आंसू नहीं रुके। ऐसा लगा की शायद रवि अब आया तब आया।



परिजनों को सौंपे वीडियो में रवि ने एवरेस्ट फतह करने के बाद सबसे पहले अपने बैग से तिरंगा निकालकर लहराया और अपनी ख़ुशी का इजहार किया। इसके बाद मुरादाबाद के पूर्व जिलाधिकारी अमित घोष के परिवार की तस्वीरें साझा की, क्योंकि अमित घोष ने रवि की एवरेस्ट मिशन में आर्थिक मदद की थी और उसका लगतार उत्साह भी बढ़ाते रहते थे। रवि के आखिरी वीडियो को देखकर हर कोई यही कह रहा की रवि शायद अब आ जाए तब आ जाए, लेकिन देर रात उसके शव आने के साथ सबकी उम्मीदें भी खत्म हो गईं।

बता दें कि महानगर के भोला सिंह की मिलक निवासी अप्रैल में एवरेस्ट अभियान के लिए रवाना हुए थे और वहां दुर्घटना के शिकार हो गए थे। इससे पहले भी तबियत खराब और मौसम में रुकावट के चलते रवि का अभियान रुक गया था, लेकिन इस बार उसने एवरेस्ट तो फतह कर लिया लेकिन जिंदगी की जंग हार गया। इसका मलाल उसके परिवार के साथ ही शहरवासियों को भी है। रवि के नजदीकी और परिवार वालों के मुताबिक रवि काफी जुनूनी था, जो काम ठानता था, उसे पूरा करके ही दम लेता था, लेकिन वो ऐसे हादसे का शिकार हो जाएगा ऐसी उम्मीद किसी को नहीं थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned