चमत्कारः 6.5 महीने में पैदा हुआ 700 ग्राम का बच्चा, डॉक्टरों ने ऐसे बचाई जान

sandeep tomar

Publish: Dec, 01 2016 06:51:00 (IST)

Moradabad, Uttar Pradesh, India
 चमत्कारः 6.5 महीने में पैदा हुआ 700 ग्राम का बच्चा, डॉक्टरों ने ऐसे बचाई जान

डॉक्टरों के अनुसार, इस तरह के मामले में अमेरिका तक में बच्चे की जान बचाना बेहद मुश्किल होता है

बिजनौर। एक प्राइवेट नर्सिंग होम में जो हुआ वह किसी चमत्कार से कम नहीं है। यहां डॉक्टरों ने साढे छह महीने के एक प्रीमैच्योर बच्चे, जिसका वजन मात्र 700 ग्राम था, की जान बचाने में कामया​बी ​हासिल की है। गुरुवार को बच्चे को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और परिवार वाले उसे अपने साथ घर ले गए। डॉक्टरों का कहना है कि इतने प्रीमैच्योर केस में इतने कम वजन के बच्चे को बचा पाना अमेरिका जैसे देश में भी बहुत मुश्किल हो जाता है। डॉक्टर भी इसे भगवान का करिश्मा ही मान रहे हैं।



16 नवंबर को हुआ था जन्म

15 दिन पहले 16 नवंबर को नजारा नाम की महिला ने बिजनौर के जिला अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया। जन्मे नवजात शिशु का वजन मात्र 700 ग्राम था। ये बच्चा समय से पहले साढ़े 6 माह में ही पैदा हुआ। अकसर समय से पहले जन्मे बच्चे जिनका वजन बहुत कम हो, के बचने की कम ही संभावना होती है। जिला अस्पताल में डॉक्टर बच्चे की हालत देख कर डर गए और बच्चे को प्राइवेट अस्पताल में ले जाने की सलाह दी। बच्चे के पिता शाकिर ने नवजात को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया। शाकिर की मानें तो बच्चे का वजन बहुत कम था और वो इसे भगवान और डॉक्टर का चमत्कार मान रहे हैं।

अब 1,200 ग्राम पहुंचा वजन


बच्चे का इलाज करने वाले डॉक्टर सिद्धार्थ का कहना है कि ये बच्चा 16 नवम्बर को भर्ती किया गया था और उस वक्त उसका वजन मात्र 700 ग्राम था। साढ़े 6 माह डिलिवरी होने के कारण बच्चे का बचना बेहद मुश्किल था लेकिन डॉक्टर और उनकी टीम ने कड़ी मेहनत की है। अब इस बच्चे का वजन 1,200 ग्राम हो गया है। डॉक्टर का कहना है कि इस तरह के बच्चे को बचना अमेरिका तक में भी मुश्किल होता है। मेडिकल साइंस में इस तरह का कारनामा होना चमत्कार से कम नहीं है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned