महिला ने चलती बस में दिया बच्‍च्‍ो को जन्‍म

Noida, Uttar Pradesh, India
महिला ने चलती बस में दिया बच्‍च्‍ो को जन्‍म

प्रसव पीड़ा के चलते दर्द से तड़पती रही महिल, लेकिन फर्राटे भरता रहा बस चालक

मुरादाबाद/रामपुर. इंसानियत को शर्मसार करने वाली आज एक ऐसी घटना हुई है, जिसमे रोडवेज कर्मचारियों की मानवता पर ही सवाल खड़े हो गये हैं। दिल्ली से लखनऊ जाने वाली उत्तर प्रदेश रोडवेज के हैदरगढ़ डिपो की बस में इंसानियत को तार-तार कर दिया गया। प्रसव पीड़ा के चलते महिला दर्द से तड़पती रही, लेकिन चालक ने बस नहीं रोकी और इस तरह हैदरगढ़ जाने वाजी इस चलती बस में ही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया। इसके बाद करीब साठ किलोमीटर का सफर तय करने के बाद गंभीरावस्था में महिला को रामपुर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें- Exclusive interview ...तो इस वजह से पीएम मोदी के साथ योग नहीं करेंगे पद्मश्री भारत भूषण

दरअसल हरदोई निवासी श्याम गुप्ता अपनी गर्भवती पत्नी के साथ दिल्ली से हरदोई जा रहे थे। उनकी पत्‍नी बस की पिछली सीट पर थी कि अचानक रास्‍ते में उसे प्रसव पीड़ा होनी शुरू हो गई। आरोप है कि इस दौरान रोडवेज बस के चालक और परिचालक ने बस नहीं रोकी और उसी स्‍पीड से बस को दौड़ाते रहे। महिला को प्रसव पीड़ा होते देख कुछ महिला यात्रियों ने बस में पर्दा कर गर्भवती की मदद की। इसी बीच जोया के पास चलती बस में उसने बच्चे को जन्म भी दे दिया, लेकिन इसके बाद भी रोडवेज बस के ड्राइवर ने बस नहीं रोकी और न ही महिला को अस्‍पताल पहुंचाया। इस दौरान महिला तड़पती रही और बस फर्राटे भरती रही। इस तरह 60 किलोमीटर के बाद यात्रियों और अन्‍य महिलाओं के कहने पर बस रामपुर में रोकी गई। इसके बाद आनन-फानन में महिला को बस से उतारकर एम्बुलेंस से अस्पताल भेजा गया।

ये भी पढ़ें- अश्‍लील ऐश-ट्रे विवाद: अमेजन के खिलाफ मुकदमा दर्ज

इधर जिला अस्पताल के डाक्टर लक्ष्मण मेहता ने बताया कि रामपुर जिला अस्पताल में सूचना मिलने पर एम्बुलेंस की व्यवस्था कर महिला और नवजात को अस्पताल लाया गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है। फिलहाल जच्‍चा और बच्‍चा दोनों सुरक्षित हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned