जिले के अफसरों को अब टीएल की बैठक में अनुपस्थित रहना पड़ सकता है भारी, जाने क्यों?

Morena, Madhya Pradesh, India
जिले के अफसरों को अब टीएल की बैठक में अनुपस्थित रहना पड़ सकता है भारी, जाने क्यों?

शिकायतों के निराकरण में उदासीनता पर नोटिस, कलेक्टर ने दिए कड़े संकेत

मुरैना. कार्य के प्रति उदासीनता पर कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने सोमवार को टीएल बैठक में फिर कड़ा संदेश देने का प्रयास किया। लगातार तीन बैठकों से अनुपस्थित रहे श्रम निरीक्षक हरिश्चंद्र चकोटिया के खिलाफ निलंबन का प्रस्ताव संभागायुक्त को भेजने के निर्देश दिए हैं, जबकि सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का डिफरेंस निकालने में उदासीनता बरतने पर संबंधित ई-गवर्नेंस के मनीष शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी करने को कहा है।
कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर भास्कार लाक्षाकार ने कहा कि कार्य में समय-सीमा का खास ध्यान रखा जाए। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारी शिकायतों का बिंदुवार निराकरण करें। यह भी देखें कि शिकायतों की वास्तविकता क्या है। जो भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं, उनको अधिकारी जिम्मेदारी के साथ निपटाएं। इसमें जवाबदेही सुनिश्चित की जाए। पिछली टीएल बैठक में जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस को कहा गया था कि कि टीएल में प्राप्त एल-१ से एल-४ तक की लंबित शिकायतों की संख्या निकालीकर कुल प्राप्त शिकायतों में से अंतर निकालकर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। यह जिम्मेदारी ई-गवर्नेंस में मनीष शर्मा को दिए थे, लेकिन उन्होंने इसे गंभीरता से नहीं लिया। कलेक्टर ने इस पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति एवं पट्टों के वितरण आदि पर विस्तार से समीक्षा की और इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी किए। बैठक में समस्त एसडीएम, तहसीलदार एवं विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned