अब विपक्ष की संघर्ष यात्रा के साथ किसान भी

Jameel Khan

Publish: Apr, 17 2017 10:50:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
अब विपक्ष की संघर्ष यात्रा के साथ किसान भी

किसानों से मिले समर्थन को देखकर एनसीपी नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार भी फॉर्म में आ गए

मुंबई। किसानों को कर्ज माफी की मांग के समर्थन में शुरू हुई विपक्ष की संघर्ष यात्रा के दूसरे चरण को जलगांव में किसानों का जबरदस्त समर्थन मिला है। सोमवार को जलगांव के पारोला में जब संघर्ष यात्रा पहुंची तो उसमें 12 गांवों के किसान अपनी बैलगाडिय़ां लेकर शामिल हुए। करीब 100 बैलगाडिय़ों के संघर्ष यात्रा में शामिल होने से नेताओं का मनोबल भी बढ़ा। किसानों से मिले समर्थन को देखकर एनसीपी नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार भी फॉर्म में आ गए।

धमाकेदार भाषण में उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार को गौ हत्या नहीं चलती, लेकिन किसानों की आत्महत्या चलती है। उन्होंने किसानों से आव्हान किया कि जब तक सरकार किसानों को संपूर्ण कर्ज माफी नहीं दे देती, तब तक किसी भी मंत्री
को गांव में मत घुसने दो। जलगांव बीजेपी के वरिष्ठ नेता एकनाथ खड़से का गृह जिला है। बुलढाणा से शुरू हुई संघर्ष यात्रा जब रविवार को जलगांव पहुंची, तो संघर्ष यात्रा में शामिल विपक्ष के नेताओं ने खडसे से उनके फॉर्म हाउस पर मुलाकात की।

केंद्र और राज्य सरकार पर प्रहार
खड़से ने अपने फॉर्म हाउस में विपक्ष के नेताओं को जलपान भी कराया। इन दिनों खड़से बीजेपी सरकार में हाशिए पर चल रहे हैं। मुख्यमंत्री फडनवीस ने खड़से को मात देने के लिए उनके ही जलगांव जिले में मंत्री गिरीष महाजन को ज्यादा महत्व
देना शुरू किया है। भोसरी के कथित जमीन घोटाले में नाम आने के बाद जब से खडसे ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दिया है, तब से वे फडनवीस से नाराज बता जा रहे हैं। ऐसे में खड़से के फॉर्म हाउस पर विपक्ष के नेताओं की अवभगत चर्चा का विषय बनी हुई है। संघर्ष यात्रा के दूसरे चरण में सोमवार को विपक्ष पहुंचा महाराष्ट्र के कई गांवों के किसान बैलगाडिय़ों लेकर संघर्ष यात्रा में शामिल हुए। इस मौके पर विपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकार पर प्रहार किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned