किसानों की कर्जा माफी को लेकर सदन में हंगामा

Jameel Khan

Publish: Mar, 18 2017 10:04:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
किसानों की कर्जा माफी को लेकर सदन में हंगामा

अपने बजट सत्र के दौरान वित्तमंत्री ने जैसे ही अपना भाषण शुरू किया विपक्ष ने किसानों की कर्ज माफी करने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया

मुंबई. विपक्षियों ने किसानों की कर्जा माफी को लेकर अपनी मांग की और हंगामा किया। हंगामा करने वालों में एनसीपी के विधायक भी शामिल थे। वित्तमंत्री ने बजट प्रावधानों को लेकर कहा कि वर्ष 2017 से 2018 के बजट में सिंचाई परियोजना हेतु 8233 करोड़ रुपये आवंटित हुए। इतना ही नहीं सड़क मरम्मतीकरण के लिए 7 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है। उन्होंने घोषणा की कि कृष्णा मराठवाड़ा परियोजना का प्रथम चरण जल वितरण 4 वर्षों में पूरा हो जाएगा। परियोजना के लिए ढाई सौ करोड़ रुपये का विशेष प्रावधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में आईटीआई की सहायता हेतु 99 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। महात्मा गांधी ईजीजीएस योजना के अंतर्गत कुंओं, तालाबों हेतु 225 करोड़ रुपये के प्रावधान की जानकारी दी गई। वित्तमंत्री ने बताया कि राज्य में बंदरगाह विकास के लिए 70 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि रामई आवास योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति हेतु 55 हजार घरों का निर्माण करवाया जाएगा।

मेडिकल काॅलेजों के लिए 55.9 करोड़

मकान निर्माण 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने किसानों के लिए भंडारण सुविधा में सुधार व वैकल्पिक बाजार विकसित करने के लिए 50 करोड़ रुपये के प्रावधान की बात कही। उन्होंने कहा कि औरंगाबाद में केंसर शोध केंद्र स्थापित किया जाएगा। इसके लिए 126 करोड़ रुपये की राशि निर्धारित की जाएगी। राज्य में मेडिकल काॅलेजों के विकास व विस्तार हेतु 55.9 करोड़ रुपये के प्रावधान की बात भी उन्होंने कही।

केसरकर ने विधान परिषद में बजट किया पेश

महाराष्ट्र में वर्ष 2017-18 का बजट पेश किया गया। वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने विधानसभा में और वित्तराज्य मंत्री दीपक केसरकर ने विधान परिषद में इस बजट को पेश किया। बजट सत्र के दौरान विपक्ष ने भारी हंगामा भी किया। विपक्ष ने किसानों की कर्ज माफी को लेकर सदन में भारी हंगामा करते हुए पोस्टर लहराए। वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने विधानसभा के पटल पर साल 2017-18 का बजट रखा। अपने बजट सत्र के दौरान वित्तमंत्री ने जैसे ही अपना भाषण शुरू किया विपक्ष ने किसानों की कर्ज माफी करने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। कई कांग्रेसी नेता हाथ में सरकार विरोधी पोस्टर लेकर अपनी सीट पर खड़े हो गए और जमकर नारेबाजी करने लगे। इस बीच विधानसभा अध्यक्ष ने विधायक शशिकांत शिंदे और जयकुमार गोर का नाम लेकर उन्हें अपनी सीट पर बैठने के लिए कहा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned