डूब गए 42 लाख, पर नहीं मिला एक भी पाउंड

Jameel Khan

Publish: Apr, 11 2017 11:40:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
डूब गए 42 लाख, पर नहीं मिला एक भी पाउंड

साइबर पुलिस सूत्रों के अनुसार, कुछ महीने पहले शिकायकर्ता के पास ई-मेल आया कि उसकी 2 लाख पाउंड की लॉटरी निकली है

मुंबई. लालच में कई बार लोग अपना सब कुछ डुबा बैठते हैं। मुंबई के एक शख्स को भी ऐसा ही अनुभव हुआ। 2 लाख पाउंड पाने की चाहत में उसने 42 लाख रुपए गंवा दिए। साइबर पुलिस ने इस केस में शहाबुद्दीन शेख और गुलजार अहमद शेख नामक दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों को किला कोर्ट में पेश किया गया। हालांकि पेशी के दौरान एडवोकेट अजय दुबे ने दोनों की गिरफ्तारी को इस आधार पर गलत बताया कि दोनों स्टॉक मार्केट के बिजनेस से जुड़े हुए हैं, पर अदालत ने पुलिस की रिमांड की अप्लीकेशन को सही माना और दोनों को 15 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया।

साइबर पुलिस सूत्रों के अनुसार, कुछ महीने पहले शिकायकर्ता के पास ई-मेल आया कि उसकी 2 लाख पाउंड की लॉटरी निकली है। इस रकम के लिए उसे कुछ प्रोसेसिंग फीस जमा करनी पड़ेगी। शिकायतकर्ता ने बताए अकाउंट में यह रकम जमा
कर दी। फिर उससे कभी कस्टम, कभी आरबीआई, तो कभी इनकम टैक्स के नाम पर रकम मांगी जाती रही। उसने यह रकम भी जमा कर दी। जनवरी से अप्रैल तक शिकायतकर्ता ने कुल 42 लाख रुपए बताए गए अलग-अलग अकाउंट्स में जमा करा दिए, पर जब लॉटरी के 2 लाख पाउंड उसके अकाउंट में नहीं ट्रांसफर हुए, तो उसे खुद के ठगे जाने का शक हुआ। उसने इसके बाद साइबर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।

अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस
जांच में यह बात सामने आई कि एक अकाउंट किसी सादाब खान के नाम है और इस अकाउंट से दिल्ली में रकम विथड्रा की जा रही है। इसके बाद साइबर पुलिस आरोपियों को पकडऩे के लिए दिल्ली गई। दो दिन पहले एक बैंक के बाहर ट्रैप लगाया गया। पहले एक आरोपी शहाबुद्दीन 1 लाख 60 हजार रुपए विदड्रा करते हुए निकला, फिर उसके साथी गुलजार ने 1 लाख 40 हजार रुपए विथड्रा किए। उसी समय दोनों को हिरासत में ले लिया गया। दोनों यूपी के बरेली शहर के रहने वाले हैं। उन्होंने अपने बचाव में कहा कि वे सटॉक मार्केट के बिजनेस से जुड़े हुए हैं। दोनों को वहां किसी से रकम चाहिए थी। उसने उन्हें बीयरर चेक दे दिए, जिसे उसने बैंक से विथड्रा भर किया। पर साइबर पुलिस का कहना है कि यह दोनों नाइजीरियंस ठगों के रैकेट से जुड़े हुए हैं। उनसे पूछताछ के जरिए पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned