अब बेस्ट चलाएगी मिनी एसी बसें

Jameel Khan

Publish: Apr, 18 2017 10:12:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
अब बेस्ट चलाएगी मिनी एसी बसें

कमेटी की अनुमति न मिलने के कारण प्रपोजल अधर में लटका था

मुंबई। बेस्ट परिवहन विभाग ने मुंबई की सड़कों पर दौडऩे वाली एसी बसों को हटा लिया, लेकिन यात्रियों की सहूलियत के लिए उसने इन मार्गों पर अतिरिक्त नॉन एसी बसें चलाने का निर्णय लिया है। साथ ही उसने मुंबई की सड़कों पर 50 मिनी एसी बसें चलाने का भी निर्णय किया है, जिस पर काम शुरू कर दिया गया है। हालांकि इस पर अंतिम फैसला बेस्ट कमेटी बैठक में लिया जाएगा। बता दें कि बेस्ट परिवहन विभाग पिछले कई सालों से लगातार घाटे में चल रहा है। इससे उबरने के लिए उसने लाभ न देने वाली सभी सेवाओं को बंद करने का निर्णय लिया, जिसमें कई प्रकार की रियायतें भी शामिल हैं। जिन सेवाओं को बंद करने का फैसला लिया है, उसमें सबसे बड़ा है वातानुकूलित बसों को बंद करने का फैसला।

बेस्ट प्रशासन करेगा मार्गों का चयन
बेस्ट प्रवक्ता की मानें तो उसे पैसों की किल्लत से उबारने के लिए न तो बीएमसी और न ही राज्य सरकार किसी भी प्रकार के कदम उठा रही थी। ऐसे में बेस्ट प्रशासन के सामने वातानुकूलित बस सेवाओं को बंद करना ही एकमात्र विकल्प रह गया था। बेस्ट महाप्रबंधक ने सोमवार को बताया कि यदि सब सही रहा तो बेस्ट 50 मिनी एसी बसें चलाएगा। इस पर अंतिम निर्णय बेस्ट कमेटी की अगली बैठक में लिया जाएगा। जानकारी के अनुसार, 50 मिनी एसी बसें खरीदने का प्रस्ताव पहले ही तैयार कर लिया गया था। कमेटी की अनुमति न मिलने के कारण प्रपोजल अधर में लटका था। अब एसी बसें बंद होने के बाद मिनी एसी बसें चलाई जा सकती हैं। ये 50 मिनी एसी बसें शहर व उपनगर के कुछ प्रमुख मार्गों पर चलाई जाएंगी। मार्ग का चयन बेस्ट प्रशासन और सदस्य की ओर से किया जाएगा।

बेस्ट को हर साल 100 करोड़ का घाटा
इतनी भीषण गर्मी में एसी बसों को बदं करने के निर्णय से सफर करने वाले 20 हजार यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बेस्ट द्वारा 266 एसी बसें चलाई जाती थीं, जिसे पैसों की किल्लत के कारण बंद कर दिया गया।  बेस्ट की एसी बसों को बंद करने के निर्णय का स्वागत करते हुए कमेटी सदस्य रवि राजा ने बताया कि वातानुकूलित बसों से बेस्ट को हर साल100 करोड़ रुपये का घटा होता था। प्रशासन जहां पाई-पाई के लिए मोहताज हो रहा है, इस फैसले से बड़ा खर्च नियंत्रण में आ सकेगा। इसके अलावा पूर्व उपमहापौर परशुराम मिरेकर का निधन होने की वजह से उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर बैठक स्थगित कर दी गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned