अब मुंबई को 16 हजार घर मिलना तय

Jameel Khan

Publish: Apr, 23 2017 10:47:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
अब मुंबई को 16 हजार घर मिलना तय

इस रीडेवलपमेंट में करीब 16 हजार अफोर्डेबल घर बनाए जाएंगे

मुंबई। जमीन के लिए तरसने वाले मुंबई शहर के लिए अब बड़ी राहत मिलने वाली है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने मुंबई की बीडीडी चॉल के रीडेवलपमेंट की शुरुआत कर दी है। इस रीडेवलपमेंट में करीब 16 हजार अफोर्डेबल घर बनाए जाएंगे। बीडीडी चॉल का इतिहास पुराना है। ब्रिटिश राज के दौरान 1920 में बीडीडी यानि बॉम्बे डेवलपमेंट डिपार्टमेंट ने मुंबई में चार अलग-अलग लोकेशन पर लोगों के रहने के लिए 207 चॉल बनाई थीं। करीब 100 साल पुरानी ये चॉल 93 एकड़ जमीन पर फैली हुईं हैं और मुंबई के नायगांव, वरली, लोअर परेल और शिवड़ी इलाकों में मौजूद हैं।

ये इलाके इस वक्त मुंबई की प्राइम लोकेशन में आते हैं। इन चॉलों की हालत अब जर्जर हो चुकी है और यहां पर रहने वाले 100 रुपए
महीने का किराया राज सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग को देते हैं। रीडेवलपमेंट में यहां पर रहने वालों को 500 स्क्वायर फिट के घर दिए जाएंगे और ये पूरा प्रोजेक्ट करीब 7 साल में पूरा किया जाएगा।

शिवड़ी चॉल के लिए अभी कोई फैसला नहीं
महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी यानि म्हाडा इस प्रोजेक्ट को कर रही है। पहले फेज में नायगांव और लोअर परेल में मौजूद बीडीडी चॉल का रीडेवलमेंट किया जा रहा है। नायगांव में एलएंडटी को रीडेवलपमेंट का चार्ज दिया गया हैं, वहीं लोअर परेल का रीडेवलपमेंट शापुरजी पलोनजी कर रही है। वरली बीडीडी के रीडेवलपमेंट के लिए भी टेंडर अगले 3 महीने में निकाल दिए जाएंगे । हांलाकि शिवड़ी की बीडीडी चॉल के लिए अभी कोई फैसला नहीं हो पाया है, क्योंकि ये चॉल मुंबई पोर्ट ट्रस्ट की जमीन पर बनी है और इस वक्त उसके रीडेवलपमेंट के लिए कोई पॉलिसी मौजूद नहीं है।

7 साल लगेगा समय
रिडेवलपमेंट योजना के तहत अब चाल में रहने वालों को मुंबई में 500 स्क्वेयर फीट के 16,000 सस्ते घर मिलेंगे। ये प्रोजेक्ट करीब 7 साल में पूरा होगा। पहले फेज में नायगांव और लोअर परेल में काम शुरू होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned