कैराना से हिंदुओं को पलायन कराने वाले दशहतगर्द फुरकान की हालत गंभीर

Noida, Uttar Pradesh, India
 कैराना से हिंदुओं को पलायन कराने वाले दशहतगर्द फुरकान की हालत गंभीर

पुलिस मुठभेड़ के दौरान लगी थीं चार गाेलियां

शामली. कैराना सर्राफा व्यापारी समेत आधा दर्जन रंगदारी के मामलों में फरार चल रहे कुख्यात बदमाश फुरकान को पुलिस टीम ने मुठभेड के बाद गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली है। बता दें कि आरोपी को चार गोलियां लगी हैं। इस दौरान दो पुलिसकर्मी भी गोली लगने से घायल हो गए हैं। हालांकि मुठभेड़ के दौरान आरोपी का एक साथी मौके से फरार हो गया। पुलिस ने बाइक, दो पिस्टल 9 एमएम व 32 बोर के अलावा चार दर्जन कारतूस बरामद करने का दावा किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी शातिर पर पिछले रोज डीजीपी द्वारा 50 हजार रुपये के पुरस्कार की घोषणा की थी।

जानिये क्‍यों, डीएम साहिबा का चढ़ा पारा, कई कर्मियों को किया तत्‍काल प्रभाव से निलंबित

यह भी पढ़ें- Exclusive interview जानिये, योगी सरकार ने क्‍यों लिए एक के बाद एक ताबड़तोड़ फैसले

यह भी पढ़ें- भाजपाइयों के इस काम से होगा सीएम योगी काे भारी नुक्सान

शनिवार को कोतवाली कैराना पर आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक शामली डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि व्यापारी राम अवतार वर्मा सहित आधा दर्जन रंगदारी के मामलों में फरार चल रहा कुख्यात अपराधी फुरकान जहानपुरा में किसी साथी के यहां आया हुआ है। सूचना पर त्वरित अमल करते हुए पुलिस टीम ने क्षेत्र में अपना जाल बिछा दिया। लगभग साढ़े दस बजे पुलिस ने ऊंचागांव के निकट एक बाइक पर सवार दो संदिग्धों को रुकने का इशारा किया तो उन्होंने एसपी सहित विभिन्न टीमों पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी अपनी ओर से जवाबी कार्रवाई की। बताया गया कि दोनों ओर से लगभग 20 राउंड फायरिंग हुई। इस दौरान चार गोलियां फुरकान के शरीर में लगी तथा दो कांस्टेबल शहजाद अली व अंकित तौमर को लगने के कारण वह भी घायल हो गए।

kairana

पुलिस ने घायल फुरकान को शामली के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया। वहीं, दोनों घायल पुलिसकर्मियों को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया गया। जहां से दोनों को केएमसी हॉस्पिटल मेरठ के लिए रेफर किया गया है। जबकि बदमाश का उपचार शामली में बोहरा नर्सिंग होम में चल रहा है। जहां से संभवतः उसे गंभीर हालत में हायर सेंटर भेजा जा सकता है। एसपी ने बताया कि बदमाश फुरकान से एक सीडी डिलक्स बाइक के अलावा एक पिस्टल 9 एमएम, एक पिस्टल 32 बोर, 54 जिंदा कारतूस 9 एमएम व 32 बोर तथा 13 खोखा कारतूस बरामद किए गए हैं। जबकि मौके से उसका साथी फरार होने में कामयाब हो गया। उन्होंने बताया कि शातिर ने गत 23 मार्च को सर्राफा व्यापारी राम अवतार वर्मा से दुकान पर जाकर दो लाख की रंगदारी मांगी थी तथा लगातार मांग करता चला आ रहा था, जिसके न देने पर हत्या की धमकी दी जा रही थी। इसके अलावा गतवर्ष मांगी गई व्यापारियों से पांच रंगदारी मामलों में भी वह वांछित चल रहा था। उन्‍होंने बताया कि गत दिवस पुलिस महानिदेशक की ओर से आरोपी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

kairana

खूंखार मुकीम काला का साथी है फुरकान


एसपी ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान पकड़ा गया शातिर फुरकान वेस्ट यूपी सहित कई राज्यों में आतंक बरपा चुका कुख्यात मुकीम उर्फ काला पुत्र मुस्तकीम निवासी ग्राम जहानपुरा का साथी है, जिसके इशारे पर भी यह काम कर रहा था। आज भी वह किसी घटना को अंजाम देने आया था। घटना का ताना-बाना जहानपुरा में बुना जा रहा था। जहां से मुखबिर खास पुलिस टीमों को पलपल की खबरें प्रेषित की। इसके बाद अलर्ट हुई पुलिस ने उसे काबू कर लिया।

सर्राफ की हत्या की रच रहा था साजिश

दर्जनों आपराधिक मामलों को अंजाम देने वाला मुकीम काला वर्तमान में जेल में बंद है तो अब शातिर फुरकान ने उसका जिम्मा संभाल लिया था। फिलहाल वह सर्राफा व्यापारी राम अवतार वर्मा की हत्‍या की साजिश जहानपुरा में ही रहकर रच रहा था। एसपी ने यह भी बताया कि शातिर के तीन लोगों के नाम सामने आए हैं, जिनके खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

kairana

दो दर्जन लोगों पर हुई कार्रवाई

रंगदारी मामलों में फरार चल रहे फुरकान की कोई गिरफ्तारी न होने के चलते कोतवाली पुलिस ने पूर्व में उसके सगे-संबंधियों तथा शरणदाता लगभग दो दर्जन लोगों को पुलिस ने जेल भेजा है। एसपी ने कहा कि फिलहाल शातिर की हालत गंभीर बनी हुयी है, जैसे ही हालत में सुधार आएगा तो उससे पूछताछ के बाद अधिक पूछताछ की जाएगी और उसके तमाम लोगों पर कार्रवाई सुनिश्चित होगी।

ठिकानों पर मित्रता कर करता था बात

एसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने बताया कि पकड़े गए शातिर फुरकान के शामली, कैराना, बागपत, गाजियाबाद सहित दूसरे राज्यों हरियाणा, पंजाब आदि में भी ठिकाने थे, जो कुछ ही दिन रहने के बाद उन्हें बदल दिया करता था और जहां पर रहता था वहां के लोगों से मित्रता बनाकर उनके मोबाइल फोन इस्तेमाल करके अपना नेटवर्क चला रहा था। उसे पल-पल की गतिविधियों की खबर मिल रही थी।

पत्नी-बच्चे कराते थे पास

फुरकान शातिराना अंदाज से काम ले रहा था, जो अपनी पत्नी और छोटे-छोटे बच्चों को अलग-अलग नंबरों की बाइकें लेकर चला करता था, ताकि महिला को देख कहीं पुलिस चेकिंग न कर सके। एसपी ने यह भी बताया कि उसके परिवार की अन्य महिलाएं भी शातिर का पूरा सहयोग किया करती थीं।

मौत के आगे भागता रहा शातिर


पुलिस टीमों ने शनिवार को काफी लंबी दौड के बाद फुरकान पर हाथ डाल लिया। बताया जा रहा है कि जिस समय उसकी पुलिस से मुठभेड़ हो रही थी तो वह मौत के सामान के सामने भी दौड़ लगाता रहा। इससे साफ है कि शातिर मौत से भी नहीं डरता। पुलिस टीमों ने भी उसे काबू करने के बाद राहत की सांस ली है।

एनकाउंटर में ढेर की फैली अफवाह


जिस समय पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान शातिर फुरकान को गिरफ्तार कर लिया तो इसके बाद क्षेत्र में उसके एनकाउंटर में मारे जाने की अफवाह पूरे दिन चलती रही। कई घंटे तक पुलिस की गाड़ी इधर से उधर दौडती देख लोगों के मन में उसके मारे जाने की अफवाह फैल गई। हालांकि बाद में लोगों को उसके घायल की खबर मिल गई।

सफेदपोश भी पुलिस रडार पर


पूछताछ के दौरान एसपी ने कहा कि उनके सामने फुरकान के संबंधियों के कई नाम सामने आए हैं। बताया कि यदि कोई उसे संरक्षण देने में सफेदपोश भी पाया गया तो उसके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्र को पूरी तरह से गुंडागर्दी और भयमुक्त बनाया जाएगा।

फुरकान के बच्चों को पढाएगी पुलिस

एसपी ने बताया कि फुरकान की धर्मपत्नी चार माह की गर्भवती है तथा उसके चार छोटे-छोटे बच्चे भी हैं। जिस समय शातिर से मुठभेड़ हुई तो उसके साथ पत्नी नहीं, बल्कि एक साथी शामिल था। उन्होंने बताया कि शातिर की गिरफ्तारी के बाद उसके बच्चों की शिक्षा के लिए चिंता है, लेकिन इसके लिए पुलिस खुद उपाय कराएगी। कहा कि उसके बच्चे चाहे दिल्ली में हो या फिर कैराना में, उन्हें तलाश की शिक्षा दिलाई जाएगी।
1
Ad Block is Banned