VIDEO: 'तेज बहादुर' बनना इस कांस्टेबल को पड़ा महंगा, एसपी ने किया सस्पेंड

Noida, Uttar Pradesh, India
 VIDEO: 'तेज बहादुर' बनना इस कांस्टेबल को पड़ा महंगा, एसपी ने किया सस्पेंड

वीडियो में देखें कैसे कांस्टेबल ने खोली पुलिस अधिकारियों की पोल...

शामली। बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव द्वारा उन्हें मिलने वाले भोजन की खराब गुणवत्ता का वीडियो सोशल मीडिया पर जारी करने के बाद ऐसे कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें एक वीडियो गुरुवार को लखीमपुर खीरी में तैनात यूपी पुलिस के कांस्टेबल जान महोम्मद ने वीडियो वायरल कर यूपी पुलिस के अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि चुनाव में ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों को चुनाव आयोग की ओर से 1500 रुपए तक खर्च की निर्धारित सीमा रखी है, लेकिन पुलिस कर्मियों को मात्र 150 रुपए दिए जा रहे हैं। 

देखें वीडियो...


जिसके बारे में कांस्टेबल जान महोम्मद ने जब अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने कहा कि उन्हें उच्च अधिकारियों की ओर से केवल 150 रुपए देने के निर्देश दिए गए हैं। वीडियो में कांस्टेबल ने दावा किया है कि क्या लोकसभा चुनाव के बाद महंगाई बढ़ी है या घटी है। 150 रुपए में क्या लंच पैकेट आएंगे। जबकि कर्मचारी को बाहर से आना पड़ता है किराया भी खर्च होता है। 

वीडियो के माध्यम से कांस्टेबल अपनी आवाज को चुनाव आयोग तक पहुंचाना चाहता है और उसने अपने विभाग के लोगों और जनता से इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा वायरल करने की अपील भी की हैं। जिससे उन्हें उनका पूरा खर्च मिल सकें। वीडियो वायरल होने के बाद एसपी लखीमपुर खीरी ने कांस्टेबल जान मोहम्मद को सस्पेंड कर दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी। जांच चलने तक कांस्टेबल सस्पेंड रहेंगे। एसपी का दावा है कि उक्त पुलिस कर्मी चुनाव में बाधा उत्पन कर सकता था, इसलिए उसको सस्पेंड कर दिया है।

इससे पहले इन्होंने वायरल की थी खामियों की वीडियो

इससे पहले भी थलसेना के लांस नायक वाईपी सिंह का वीडियो सामने आया था। जिसमें उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों पर ‘दुर्व्यवहार’, अक्सर धमकाने और जूतो पर पॉलिश कराने के आरोप लगाए थे।इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में तैनात बीएसएफ के कांस्टेबल तेज बहादुर यादव ने वीडियो वायरल के सेना के अधिकारियो पर खराब भोजन देने का आरोप लगाया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned