OMG ! आपने कहीं नहीं देखा होगा 16 लाख रुपए का बांस से बना बाउंड्रीवाल, तो जरुर देखें

ajay shrivastav

Publish: Jul, 17 2017 09:12:00 (IST)

Narayanpur, Chhattisgarh, India
OMG ! आपने कहीं नहीं देखा होगा 16 लाख रुपए का बांस से बना बाउंड्रीवाल, तो जरुर देखें

शिक्षा मंत्री के क्षेत्र में स्कूल निर्माण की राशि में भ्रष्टाचार, 16 लाख में बांस की बाड़ी, लेंटर की जगह शीट, सरपंच सचिव ने डकारी निर्माण की राशि।

नारायणपुर. शिक्षा मंत्री केदार कश्यप के क्षेत्र में स्कूल निर्माण में भारी भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। मुख्यालय से सटे सिवनी गांव में प्राथमिक व मिडिल स्कूल में बाउड्रीवाल व भवन निर्माण में सरपंच व सचिव ने मिलीभगत कर 8.11 लाख्र की राशि का गबन कर लिया। बाउण्ड्रीवाल की जगह बांस की बाड़ी बनाई गई जो पंचायत ने नहीं बल्कि ग्रामीणों ने श्रमदान से तैयार की है। यही नहीं भवन के लिए स्वीकृत आठ लाख रुपए से सीमेंटेड छत की जगह एसबेस्टस शीट लगा दिया गया।

निर्माण होना था
मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर बागबेड़ा ग्राम पंचायत के आश्रित गांव सिवनी में प्राथमिक व मिडिल स्कूल में बाउण्ड्रीवाल का निर्माण होना था। 2012-13 में प्राथमिक शाला में बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए राजीव गांधी शिक्षा मिशन से 3 लाख 54 हजार रुपए की स्वीकृति व मिडिल स्कूल में बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए 4 लाख 57 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई थी।

कार्य को प्रारंभ बताया जा रहा है
यह राशि राजीव गांधी शिक्षा मिशन से ग्राम पंचायत बागबेड़ा के खाते में जमा कर दी गई थी। इसके बाद पंचायत सचिव व सरपंच ने बाउंड्रीवाल निर्माण के 8 लाख 11 हजार रुपए की राशि का आहरण कर लिया पर चार साल बाद भी निर्माण नहीं किया गया। राजीव गांधी शिक्षा मिशन को दी गई जानकारी में स्कूलों के बाउड्रीवाल निर्माण कार्य को प्रारंभ बताया जा रहा है।

इधर ग्रामीणों ने श्रमदान से बनाया बाउंड्रीवाल
ग्राम पंचायत बागबेड़ा के आश्रित गांव सिवनी में प्राथमिक व मिडिल स्कूल में बाउंड्रीवाल का निर्माण नहीं होने से स्कूल प्रांगण में मवेशियों का आना-जाना लगा रहता था। स्कूल प्रांगण में गंदगी फैल जाती थी। परेशानी देखते सिवनी के ग्रामीणों ने दो दिन श्रमदान कर बल्ली व बांस से करीब 250 मीटर स्कूल भवन के चारों ओर बाउंड्रीवाल का निर्माण किया है।

निर्माण में गायब कर दी स्कूल की छत
सिवनी मिडिल स्कूल में भवन निर्माण के लिए राजीव गांधी शिक्षा मिशन से 2012-13 में 8 लाख 82 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई थी। इस राशि को भी ग्राम पंचायत बागबेड़ा के खाते में जमा किया गया था। ग्राम पंचायत ने मिडिल स्कूल भवन का निर्माण किया पर भवन की छत में लेंटर डालने की बजाय सीट डालकर खानापूर्ति की गई। जबकि मिडिल स्कूल भवन निर्माण में सीमेंटड छत का निर्माण किया जाना था। ग्राम पंचायत सचिव-सरपंच में भवन निर्माण की आधी का ही गबन कर लिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned