मंदिर में पूजन कर रेलमंत्री को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना

Narsinghpur, Madhya Pradesh, India
मंदिर में पूजन कर रेलमंत्री को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना

शटल चलाओ संदेश यात्रा पहुंची ठेमी


नरसिंहपुर। इटारसी सतना इटारसी शटल रेलगाड़ी चलाने की मांग को लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शटल चलाओ संदेश यात्रा प्रारंभ की है। मंगलवार को सुबह 10 बजे शटल चलाओ संदेश यात्रा रेलवे स्टेशन से प्रारंभ हुई जो शहर के प्रमुख मार्गो से निकलते हुये नरसिंह मंदिर पहुंची। नरसिंह मंदिर में सभी ने भगवान नरसिंह की पूजन-अर्चन कर रेल मंत्री को सदबुद्धि देने की प्रार्थना की। इसके बाद यह यात्रा पुन: शहर के गली-कूचों से गुजरकर ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंची। यात्रा सांकल रोड से करहैया, सुपला, धमना, नयागांव होकर ठेमी पहुंची। ठेमी से करकबेल होते हुये बौछार, बासनपानी, सूरवारी, बेलखेड़ा सहित कई गांवों में पहुंची। यात्रा में शामिल बाबूलाल पटेल, देवेन्द्र शर्मा पंडा, विमल वानगात्री, मंजीत छाबड़ा, अरूण शर्मा ने कहा कि एक ओर केन्द्र सरकार बुलेट ट्रेन चलाने की बात कह रही है। दूसरी ओर आम जनता को प्रताडि़त करने के लिए शटल और अन्य पैंसेजर गाडिय़ों को बंद किया जा रहा है। यह आम यात्रियों के साथ घोर अन्याय है। जिसका तीव्र विरोध हर स्तर पर किया जायेगा। अन्य वक्ताओं ने कहा कि समय की मंाग है कि जिले के निवासी शटल ट्रेन को चलाये जाने को लेकर लामबंद हों। इस अवसर पर अमर नौरिया, नीलेश जाट, बृजेश शर्मा, समीर खान, वारिज वाजपेयी, नरेश भार्गव, इंदु सिंह, शशिकांत मिश्रा, सुबोध शर्मा, सुरेश विश्वकर्मा सहित कई संगठनों के लोग शामिल रहे। शटल चलाओ संदेश यात्रा को शहर के अलावा गांव में काफी जनसमर्थन मिल रहा है। नगर में कई संगठनों ने यात्रा में शामिल सामाजिक कार्यकर्ताओं की हौसल आफजाई की वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में यात्रियों को जलपान कराकर उनका स्वागत किया गया। गांव में ग्रामीणों ने कहा कि इस बहुत दुखद है कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधि इस इस गाड़ी को पुन: चलाये जाने की मांग पर मौन हैं। इससे प्रतीत होता है कि उन्हें लोगों के दुखदर्द से कोई सरोकार नहीं है।  गौरतलब है कि इटारसी सतना इटारसी शटल पिछले 3 माह से बंद हो जाने से आम लोगों को यात्रा करने में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खासकर छोटे-छोटे गांव से शहर आने वाले ग्रामीणों, नौकरीपेशा व छात्र-छात्राओं को अपने गंतव्य तक पहुंचने में परेशानी हो रही है। यह ट्रेन आमजनता की ट्रेन बन चुकी थी लेकिन रेल प्रशासन के तुगलकी आदेश के कारण पिछले तीन माह से बंद है। इस ट्रेन को चालू करने की मंाग को लेकर विभिन्न स्तर पर विरोध प्रकट हो रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned