अब भाजपा में भी छाया परिवारवाद का साया, इस सीट से कल्याण सिंह के चहेतों को मिलेगा ​टिकट

noida
अब भाजपा में भी छाया परिवारवाद का साया, इस सीट से कल्याण सिंह के चहेतों को मिलेगा ​टिकट

कल्याण सिंह की पुत्रवधू और पौत्र को देगें इन नेताओं को टक्कर

बुलंदशहर। जहां एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजनीति में परिवारवाद के खिलाफ खड़े दिखाई देते हैं तो वहीं दूसरी ओर खबर है कि बीजेपी बुंलदशहर में पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की पुत्रवधू और पौत्र को टिकट देने वाली है। आपको याद होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली में कहा था कि बीजेपी के कार्यकर्ता अपने परिवार के लोगों के लिए टिकट ना मांगें। उन्होंने साफ संदेश दिया था कि पार्टी में भाई भतीजावाद को बढ़ावा नहीं दिया जाएगा।
 
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि टिकट वितरण में परिवारवाद को लेकर पार्टी का रूख वही है। जो पहले हुआ करता था। हालांकि इसका असर पार्टी के उन नेताओं के अपनों पर नहीं पड़ेगा, जो कम से कम 10 सालों से पार्टी के साथ काम कर रहे हैं। इससे साफ है कि बीजेपी दिग्गज नेताओं के परिवार वालों को टिकट देने का मूड बना चुकी है। बस बीजेपी की कंडीशन ये होगी कि वे कम से कम 10 साल से पार्टी के सदस्य हैं। माना जा रहा है कि बुलंदशहर जिले में एक बार फिर से बीजेपी में परिवारवाद देखने को मिलेगा।
 
राजस्थान के वर्तमान राज्यपाल और यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह का जन्म अलीगढ़ में 5 जनवरी 1932 में हुआ था। कल्याण सिंह ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद सन् 1962 में राजनीति में कदम रखा और दो बार यूपी के मुख्यमंत्री भी बने। बुलंदशहर को कल्याण सिंह का गढ़ माना जाता है। बुलंदशहर लोकसभा सीट से कल्याण सिंह सांसद भी रहे चुके हैं। बुलंदशहर की डिबाई और स्याना सीट लोध बाहुल्य होने के कारण कल्याण सिंह की खास सीट मानी जाती हैं। कल्याण सिंह अपने पोते और एटा से सांसद राजवीर सिंह उर्फ राजू भैया के पुत्र संजू और पुत्रवधु प्रेमलता के लिए बुलंदशहर डिबाई और स्याना से टिकट मांग रहे हैं। बता दें कि ये दोनों सीट लोध बाहुल्य सीट हैं।
 
बुलंदशहर में अपना दबदबा रखने वाले पूर्व सीएम कल्‍याण सिंह अपने किसी खास को टिकट दिलाने के लिए जोर लगाए हुए हैं, जिससे गुड्डू पंडित की राह मुश्‍किल होती जा रही है। ये भी कहा जा रहा है कि बुलंदशहर में टिकट न मिलने पर गुड्डू पंडित गौतमबुद्धनगर की दादरी सीट से टिकट की इच्‍छा जता रहे हैं लेकिन यहां भी नवाब सिंह नागर जमे हुए हैं। अब देखना यह होगा कि सपा से निकाले जा चुके गुड्डू पंडित को अगर भाजपा टिकट नहीं देती है तो क्या होगा। शिकारपुर सीट से इस बार सपा से राकेश शर्मा और बसपा से मुकुल उपाध्याय मैदान में हैं। जबकि डिबाई से सपा से हरीश लोधी और बसपा से देवेन्द्र भारद्धाज को टिकट मिला है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned