खाकी में करवा चौथ: हाथों में मेहंदी भले ही लगी लेकिन ड्यूटी पहला धर्म

Noida, Uttar Pradesh, India
 खाकी में करवा चौथ: हाथों में मेहंदी भले ही लगी लेकिन ड्यूटी पहला धर्म

कंधों पर समाज की जिम्मेदारी के साथ-साथ परिवार आैर पति का भी ख्याल रखना हमारा कर्तव्य

मेरठ। पति की लंबी उम्र की कामना के लिए सुहागन महिलाएं सौलह श्रंगार कर करवा चौथ का व्रत रखती है। सुबह से ही सुहागन महिलाएं निर्जल व्रत रखने के साथ-साथ दोपहर में होने वाली पूजा में करवा चौथ से जुड़ी कहानी सुनती और सुनाती है। इसी दौरान महिलाएं नए-नए वेश भूषा के साथ आभूषण से सजती है। 


वहीं इस करवा चौथ व्रत के दौरान कुछ एसी महिलाएं भी है। जो कामकाज के साथ साथ अपनी डयूटी भी बखूबी निभाती है। समाज की सुरक्षा का जिम्मा जिनके कंधो पर है। वो हैं पुलिस और उस पुलिस में ऐसी अधिकारी है। जिन्हें चौबीस घंटे अपनी ड्यूटी को भी अंजाम देना होता है। ऐसे ही ड्यूटी करने वाली कुछ महिला पुलिस अफसरों से हमने बात की, जिन्होंने सारे शहर का जिम्मा भी अपने कंधों पर ले रखा था।

ये है यूपी पुलिस में संजीदा महिला अफसर बबीता तोमर इनका बातचीत का सलीखा बड़ा ही शालीन और संजीदा है। वहीं जुर्म के खिलाफ मुखर आवाज ये इनके व्यक्तिव के दो जुदा पहलू है। ठीक उसी तरह नारी के भी सभी रुपों में नजर आती है। वहीं घर में जिम्मेदार पत्नी, मां और सम्मान देने वाले प्यारी बहू में पुलिसिया रौब ढूंढे नहीं मिलता है। 


ये महिला अधिकारी इस वक्त मेरठ के महिला थाना प्रभारी है। बुधवार को इन्होंने अपने पति की लंबी उम्र के लिए करवा चौथ का व्रत भी रखा और ड्यूटी को भी खाकी वर्दी पहन कर बखूबी निभाया। साथ ही बच्चों को भी पूरा समय दिया और नौकरी पर भी आई।

बबीता तोमर ड्यूटी के साथ-साथ पति व्रता होने का सबूत दिया है। क्योंकि आज घर पर ना रह कर थाने में बैठ कर अपनी ड्यूटी निभा रही है। वहीं परिवार और पति प्रेम भी बखूबी निभा रही हैं। क्योंकि हाथों पर मेहंदी लगाने के बाद भी अपराधियों को सबक सीखाना बखूबी जानती हैं।


जिले में मात्र एक ही महिला थाना है जिसकी जिम्मेदारी बबीता तोमर के कंधों पर है। जिसे वो बड़ी बखूबी अंजाम दे रही हैं। इनका कहना है कि हाथों में मेंहदी भले ही लगी हो लेकिन ड्यूटी उनके लिए पहला धर्म है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned