GOOD NEWS: कोहरे से मिलेगी निजात, इस साल कम ठंड का अनुमान

Noida, Uttar Pradesh, India
GOOD NEWS: कोहरे से मिलेगी निजात, इस साल कम ठंड का अनुमान

मौसम विभाग का कहना है कि इस बार बीते 115 सालों का रिकॉर्ड टूट सकता है

नोएडा। कोहरे ने पिछले तीन दिनों से बेशक दिल्ली-एनसीआर की रफ्तार रोक रखी हो लेकिन आप राहत ले सकते हैं कि 48 घंटे में ये कोहरा उडन-छू हो जाएगा। गौरतलब है कि घने कोहरे की वजह से दिल्ली और एनसीआर में आवागमन पर असर पड़ा है। उड़ाने प्रभावित हुई हैं। इस कोहरे के चलते नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच एक्सप्रेस वे पर कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं।

मिलेगी 48 घंटों में निजात


मौसम पुर्वानुमान लगाने वाली एक प्राइवेट एजेंसी के अनुसार एक दो दिनों के भीतर ही इस कोहरे से निजात मिल जाएगी। क्योंकि पूर्व दिशा से आने वाली ठंडी हवाओं ने अपनी दिशा बदल ली है। माना जा रहा है कि उत्तरी पश्चिमी हवाएं कोहरे की परत को हल्का कर देंगी। इसका असर दिल्ली और एनसीआर में अगले 48 घंटों के दौरान देखा जा सकेगा।

115 सालों में सबसे गरम साल होगा 2016

अगर भारतीय मौसम विभाग की मानें तो इस साल उत्तर भारत में कम ठंड पड़ेगी। अगर ऐसा हुआ तो ये लगातार दूसरा साल होगा जबकि उत्तर भारत में ठंड औसत से कम होगी। मौसम विभाग ने पहले ठंड संबंधी बुलेटिन में कहा है इस साल पूरी संभावना है कि न्यूनतम तापमान औसत से ऊपर रहेगा। मौसम विभाग के महानिदेशक केएल रमेश का कहना है कि उत्तर भारत में इस साल शीतलहर कम रहेगी। इसका मतलब ये है कि वर्ष 2016 वर्ष 1901 के बाद सबसे गरम साल के रूप में खत्म होगा।

कोहरे ने ली एक की जान

बता दें कि तीन दिनों से लगातार कोहरे का कहर जारी है। जिस कारण सुबह और शाम को सफर करने वाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बीते कहरा शुरु होने के बाद से तापमान में भी करीब दस डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई थी और पर्यावरण में स्मोग की हलकी चादर के आने से लोगों को सांस लेने में भी परेशानी हो रही है। बीते दिनों में कोहरे के कारण यमुना एक्सप्रेस वे पर दर्जन भर से ज्यादा एक्सीडेंट हो चुके हैं जिसमें एक व्यक्ति की मौत भी हो गई थी।

बर्फबारी से बढ़ी ठंड

कोहरे के कारण स्कूल जाने वाले बच्चों को भी खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। साथ ही ट्रेनें भी देरी से चल रही हैं। गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर से गुजरने वाले ट्रेनें घंटों की देरी से चल रही हैं जिस कारण मुसाफिरों को मुसिबतों का सामना करना पड़ रहा है। बता दें कि हफ्ता भर पहले पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी के बाद ही मैदानी इलाकों में ठंड और कोहरे ने जोर पकड़ा था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned