अब स्कूलों में होगी ऐसी प्रार्थना जिसे बच्चें नहीं होगे बीमार

Noida, Uttar Pradesh, India
अब स्कूलों में होगी ऐसी प्रार्थना जिसे बच्चें नहीं होगे बीमार

डेंगू और मलेरिया के विषय में होगी ये प्रार्थना

नोएडा. दिल्ली हो या उत्तर प्रदेश या फिर देश के किसी भी राज्य के स्कूलों में लगभग एक ही जैसी प्रार्थना होती है, लेकिन अब उत्तर प्रदेश में इस प्रार्थना को जरूरी कर दिया गया है। यह प्रार्थना बच्चों को जानकारी देने के साथ ही उन्हें बीमारियों से दूर रखेंगी। दरअसल उत्तर प्रदेश संक्रामक रोग निदेशक ने यह आदेश जारी किये है। जिसके तहत यह प्रार्थना करना जरूरी होगा। जानिए कौन सी है ये प्रार्थना

डेंगू और मलेरिया के विषय में होगी ये प्रार्थना

उत्तर प्रदेश संक्रामक रोग निदेशक की ओर से राज्य के सभी सरकारी व निजी स्कूलों में डेंगू व मलेरिया से बचने की प्रार्थना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके तहत स्कूलों में सुबह होने वाली प्रार्थना के तहत ही बच्चों को डेंगू-मलेरिया के कारण, बचाव व लक्षण के प्रति नियमित रूप से जागरूक करना होगा। इससे बच्चे बीमारियों से दूर रहेंगे। वहीं हर दिन स्कूल में डेंगू आैर मलेरिया के लक्ष्णों को प्रार्थना के दौरान न बताने वाले स्कूलों पर कार्रवाई की जाएगी।

जिला मलेरिया के अधिकारी बीएसए संग चलाएेंगे अभियान

स्कूलों में प्रार्थना हो रही है या नहीं इसको लेकर जिला मलेरिया विभाग बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला विद्यालय निरीक्षक का सहयोग लेकर अभियान चलाएेंगे। संक्रामक रोग निदेशक ने इसके साथ ही प्रदेश के सभी सरकारी, निजी अस्पतालों एवं क्लीनिक व नर्सिग होम को डेंगू-मलेरिया से संबंधित केस को रोजाना इंटीग्रेटेड डिजीज सर्विलांस प्रोग्राम (आइडीएसपी) के वेबसाइट पर अपडेट किया जाने के आदेश जारी किये है। यह सुनिश्चित कराने का जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग (सीएमओ व सीएमएस) को सौंपी गर्इ है।

आंकड़ा छिपाने वाले अधिकारियों पर भी होगी कार्रवार्इ

संक्रामक रोग निदेशक ने डेंगू-मलेरिया से संबंधित आंकड़ा छिपाने वालों पर सख्त कार्रवाई का निर्देश जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग को डेंगू-मलेरिया के खिलाफ उठाये जा रहे कदमों की जानकारी भी हर दिन वेबसाइट पर अपडेट करना होगी। जिस दिन जो कार्य किया गया है। उसी दिन उसकी जानकारी वेबसाइट पर साझा किये जाने पर कार्रवार्इ करने के आदेश दिये गए है।

बीएसए के साथ ही जिले के सभी सरकारी आैर प्राइवेट स्कूल,अस्पताल व नर्सिग होम संचालकों को इस निर्देश से अवगत करा दिया गया है। अस्पतालों ने रोजाना वेबसाइट पर जानकारी अपडेट करना भी शुरू कर दिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned