टोल पर इस शर्त पर ही चलेगा 500 का पुराना नोट

Noida, Uttar Pradesh, India
टोल पर इस शर्त पर ही चलेगा 500 का पुराना नोट

आज रात से टोल टैक्स की वसूली होगी शुरू

नई दिल्ली/नोएडा। नोटबन्दी के कारण बन्द हुआ टोल कलेक्शन शुक्रवार मध्यरात्रि से दुबारा शुरू हो जाएगा। ज्यादातर मामलों में स्वैप मशीनों को टोल बूथों पर लगा दिया गया है जहां पर लोग अपने क्रेडिट/डेबिट कार्ड के जरिये टोल टैक्स का भुगतान कर सकेंगे। जानकारी के अनुसार, इस बात के पूरे प्रयास किये जा रहे हैं कि टोल वसूलने की प्रक्रिया में टोल टैक्स बूथों पर ट्रैफिक न बढ़ने पाए। 

हालांकि पांच सौ रुपये के पुराने नोट भी टोल बूथों पर चलते रहेंगे, लेकिन सरकार की कोशिश नये FAST सिस्टम के ज्यादा से ज्यादा प्रचलन में लाने की है, इसीलिये इनकी खरीद पर भी पुराने 500 रुपये के नोटों को जारी रखने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा जिन मामलों में टोल टैक्स दो सौ रुपये से अधिक होगा, उन मामलों में भी पांच सौ के नोट स्वीकार्य होंगे। 
ध्यान रहे कि FAST सिस्टम में एक टैग वाहन की मेन स्क्रीन पर लगा दिया जाता है। इसमें प्री पेड कार्ड की तरह पहले से ही टोल भुगतान किया जा चुका होता है। इसके बाद वाहन जैसे ही टोल बूथ पर प्रवेश करता है, वाहन की सूचना अंकित हो जाती है और उसके बैलेंस से अपेक्षित टैक्स कट जाता है। इन FAST कार्डों को अपने मोबाइल या कंप्यूटर से कहीं से भी रिचार्ज किया जा सकता है। ऐसे वाहनों को किसी भी टोल पर रुकने की कोई जरूरत नहीं होती। 

नोटबंदी के बाद दी थी राहत

बता दें कि गत आठ नवम्बर को जब सरकार ने एक हजार और पांच सौ रूपये के नोटों को प्रचलन से बाहर कर दिया था, तब टोल बूथों पर गाड़ियों की लम्बी कतार लग गई थी। कम मूल्य के नकदी के कमी के कारण टोल टैक्स बूथों पर वाहनों की भारी संख्या से बचते हुुए सरकार ने सभी राष्ट्रीय राजमार्ग पर टोल टैक्स हटा दिया था।

सरकार को भारी राजस्व का नुकसान

नोटबन्दी के कारण टोल टैक्स में छूट देने से सरकार को राजस्व के रूप में भारी नुकसान झेलना पड़ा। अभी तक सरकार की तरफ से ऐसा कोई आंकड़ा जारी नहीं किया गया है कि टोल टैक्स के रूप में कितना नुकसान हुआ है लेकिन माना जा रहा है कि यह नुकसान हजारों करोड़ रूपये में होगा। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned