विधानसभा चुनाव में शांतिभंग होने का खतरा, हुई बड़ी कार्रवाई

Noida, Uttar Pradesh, India
विधानसभा चुनाव में शांतिभंग होने का खतरा, हुई बड़ी कार्रवाई

6 जिलों में पुलिस को है इनसे शांति भंग होने का खतरा

नोएडा। वेस्‍ट यूपी में शांतिभंग होने का खतरा बना हुआ है। आने वाले विधानसभा चुनावों में ये खतरा और भी बड़ा हो सकता है। वेस्‍ट यूपी के प्रशासनिक अधिकारियों ने 30 हजार लोगों को चिन्हित किया गया है। जो वेस्‍ट यूपी में शांतिभंग कर सकते हैं। साथ ही वेस्‍ट यूपी होने जा रहे चुनावों में गड़बड़ी कर सकते हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर वेस्‍ट यूपी के किस जिले में कितने लोगों से खतरा बना हुआ है और कितने लोगों पर कार्रवाई की गई है। 

30 हजार से अधिक लोगों से खतरा

विधानसभा चुनाव में वेस्ट यूपी के 6 जिलों में पुलिस को शांति भंग होने का खतरा है। अब तक 31 हजार लोगों को धारा 107-116 के तहत मुचलका पाबंद किया गया है। मेरठ रेंज के डीआईजी केएस मैनुएल के मुताबिक 31,174 लोगों से शांति भंग होने का खतरा होने पर मुचलके भरे गए हैं। पुलिस अधिकारियों की मानें तो आने वाले चुनावों में इन लोगों से पूरी तरह से खतरा है। ये लोग चुनावों को भी पूरी तरह से प्रभावित कर सकते हैं। 

बुलंदशहर में सबसे अधिक

पुलिस अधिकारियों की मानें तो बुलंदशहर में सबसे अधिक 9,443 लोग चुनावों के दौरान शांतिभंग कर सकते हैं। उसके बाद मेरठ, गाजियाबाद, हापुड गौतमबद्धनगर और मेरठ के नाम शामिल हैंत्र वहीं बात बागपत की करें तो वहां सबसे कम 2,611 लोगों को अब तक पाबंद किया गया हैं। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। अधिका‍रियों की मानें शांतिभंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। ये संख्‍या और भी आगे जा सकती है।
 
वेस्‍ट यूपी है सबसे संवेदनशील

पुलिस के अनुसार मेरठ, गाजियाबाद, बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, बागपत और हापुड़ में 261 पर गैंगेस्टर की कार्रवाई की गई है। वेस्ट यूपी सांप्रदायिक नजरिये से संवेदनशील है। इसलिए यहां पर इस तरह की कार्रवाई तेजी से की जा रही है। बीते सालों में मुजफ़फरनगर, दादरी, मेरठ आदि कई शहरों में संप्रदायिक तनाव काफी बढा था। जिस कारण से ये कार्रवाई की जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned