महीने भर से लापता किशोरी, परिजनों ने किया जाम गुरुग्राम-अलवर मार्ग

Yuvraj Singh

Publish: Mar, 16 2017 11:41:00 (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
महीने भर से लापता किशोरी, परिजनों ने किया जाम गुरुग्राम-अलवर मार्ग
गुरुग्राम। एक महीने माह बीत जाने के बाद भी पाडला गांव से अपहरण की गई किशोरी को पुलिस ने बरामद नहीं किया है। साथ ही आरोप है कि पुलिस द्वारा पीडि़त परिवार पर फैंसला करने का दबाब बनाया जा रहा है। आरोपी खुले घूम रहे हैं। इसी के चलते परिवार के सदस्यों व कुछ ग्रामीणों ने सडक़ पर जाम भी लगा दिया।

परिवार व सैंकड़ों की संख्या में आए ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सवा घंटे तक गुरुग्राम-अलवर मुख्य मार्ग को जाम किए रखा। जिससे लगभग पांच किलोमीटर दूर तक गाडिय़ों की लाईनें लग गई। जाम को लगाने के लिए महिलाआें ने मोर्चा संभाला।

पीडि़त फूलसिंह ने बताया कि उनकी नाबालिग लडक़ी को गांव के छह युवक व दो अन्य युवक अपहरण कर 14 फरवरी को ले गए थे। पुलिस ने इस बारे में केवल खानापूर्ति करने के लिए मुकदमा दर्ज कर दिया। अब एक माह बीत जाने के बाद भी पुलिस छह नामजद आरोपी व दो अन्य को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। पुलिस गुमराह करने पर लगी हुई है। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। उन पर फैसला करने का दबाव बनाया जा रहा है। पुलिस के ढुलमुल रवैये के चलते गांव से परिवार के लोगों ने पलायन कर दिया आेर बुधवार को दोपहर लगभग सवा दस बजे नगर के थाने परिसर के पास मुख्य मार्ग पर परिजनों व ग्रामीणों के सहित बैठकर जाम लगा दिया।

पीडि़त परिवार की महिलाआें ने बताया कि पुलिस आरोपियों की मदद कर रही है। किसी आरोपी को नही पकड़ा गया है। केवल झूठे आश्वासन दिए जा रहे हैं। पुलिस किशोरी को बरामद नहीं कर सकी है। महिलाआें ने हाथों में कैरोसिन का तेल और पेट्रोल की टंकियां ली हुई थी, जो बार-बार आत्मदाह के लिए कह रही थी। अपनी मौत का जिम्मेवादार पुलिस प्रशासन को बता रही थी। पुलिस के मुस्तैद जवानों ने उनसे टंकियों को लेने का प्रयास किया, लेकिन महिलाएं अपनी जिद पर अड़ी रही। पुलिस के अधिकारियों ने इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। तहसीलदार प्रदीप देशवाल ने आधे घंटे तक मशक्कत करने के बाद थाना प्रभारी के लिखित दो दिन में लडक़ी को बरामद करने व आरोपियों को गिरफतार करने की बात पर जाम खोलने के लिए ग्रामीण व पीडि़त परिवार रजामद हुए।

किशोरी के चाचा ने किया आत्मदाह का प्रयास

अपहृत किशोरी के चाचा गिरिराज प्रसाद ने पुलिस द्वारा लगातार गुमराह किए जाने से क्षुब्ध होकर समाज में कलंकित होकर जीने से अच्छा आत्मदाह का रास्ता चुना। उन्होंने अपने ऊपर पेट्रोल पुलिस की मौजूदगी में ही छिडक़ लिया। पुलिस के जवानों ने मुस्तैदी दिखाते हुए बड़ी घटना होने से टाल दिया। इस बारे में थाना प्रभारी का कहना है कि परिजनों को दो दिन का समय दिया गया है। जल्द ही लडक़ी को बरामद कर लिया जाएगा। साथ ही आरोपी भी गिरफ्तार किए जाएंगें।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned