वृद्धावस्था पेंशन में बड़ा फर्जीवाड़ा, 26 संदिग्ध खातों का खुलासा

Mukesh Kumar

Publish: Jul, 18 2017 02:09:00 (IST)

Pilibhit, Uttar Pradesh, India
वृद्धावस्था पेंशन में बड़ा फर्जीवाड़ा, 26 संदिग्ध खातों का खुलासा

मौत के बाद भी खातों में जमा हो रही थी वृद्धावस्था पेंशन

पीलीभीत। जिले में वृद्धावस्था पेंशन में डिजिटल ठगी का मामला सामने आया है। जिसमें मृत पेंशन धारियों के खातों को आधार कार्ड से लिंक कराकर लाखों रुपए बैंक से निकाल लिए गए। इसका खुलासा तब हुआ जब पंजाब एंड सिंध बैंक की शाखा में व्यक्ति ने शिकायत की। बैंक ने अपनी पड़ताल में 26 से ज्यादा ऐसे संदिग्ध खाते पकड़े हैं। जिनसे तीन लाख से भी ज्यादा रुपए निकाले गए हैं। इस मामले में एक बैंक मि़त्र के खिलाफ शाखा प्रबंध की ओर से बिलसण्डा थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

26 संदिग्ध बैंक खातों का खुलासा

बिलसण्डा थाना क्षेत्र के ईंट गांव स्थित पंजाब एंड सिंध बैंक के खातेदार विष्णु दयाल ने शिकायत दर्ज कराई कि उसके पिता कुंदन लाल की मौत के बाद भी वृद्धावस्था पेंशन आती है। अपने आप निकल भी जाती है। उसकी शिकायत के बाद बैंक ने अपनी जांच में इसी तरह के 26 से ज्यादा खातों से संदिग्ध तरीके से डिजिटल मशीनों के माध्यम से पैसा निकाला गया। इन खातों से अब तक  तीन लाख 86 हजार 700 रुपए निकाले गए हैं।

बैंक मित्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
बैंक अधिकारियों को संभावना है कि यह रकम बढ़ भी सकती है। इन सभी संदिग्ध खाताधारकों की मृत्यु हो चुकी है। खातों में लगातार पेंशन के रुपए जा रहे हैं। बैंक ने इस मामले में बैंक मि़त्र नरेंद्र पाल को नामजद किया है। जो खताधारकों के फर्जी आधारकार्ड खातों से लिंक कराकर रुपए निकालता था।

अन्य बैंकों के खातों की भी होगी जांच
आरोपी बैंक मित्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं लीड बैंक मैनेजर एमएस जंगपांगी ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही ये भी कहा है कि अन्य बैंकों में भी इस तरह के खातों की बारीकी से जांच की जाए।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned