500 के नोट होने पर डॉक्टर ने नहीं किया इलाज, प्रसूता की मौत !

Pilibhit, Uttar Pradesh, India
  500 के नोट होने पर डॉक्टर ने नहीं किया इलाज, प्रसूता की मौत !

महिला की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया।

पीलीभीत। जिला महिला अस्पताल में मंगलवार रात को इलाज के अभाव में एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। जिससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया और वहां तोडफोड़ करने की कोशिश की। हंगामे के बाद अस्पताल का स्टाफ मौके से भाग गया। परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों ने पैसा मांगा था। उनके पास 500-500 के नोट थे जिसकी वजह से महिला का इलाज नहीं किया गया। घटना की सूचना मिलने पर सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को शांत कराया।

तीन दिन पहले भर्ती हुई थी महिला

शहर के मोहल्ला छोटा खुदागंज निवासी अजीम मियां के मुताबिक, उसने अपनी पत्नी तबस्सुम को तीन दिन पहले डिलीवरी के लिए जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया था। मंगलवार को डॉक्टर ने तबस्सुम के ऑपरेशन के लिए रुपए मांगे थे, लेकिन उसके पास 500 सौ के नोट थे जिसे डॉक्टर ने लेने से इनकार कर दिया। जिसके बाद अजीम ने डॉक्टर को ऑपरेशन करने को कहा और रुपयों का इंतजाम करने के लिए बाहर चला गया।

डॉक्टर पर इलाज न करने का आरोप
रुपयों का बंदोबस्त न होने पर अजीम वापस अस्पताल लौटा आया। उसका आरोप है कि डॉक्टर ने पांच सौ के नोट लेने से इनकार कर तबस्सुम का ऑपरेशन नहीं किया और अस्पताल से चला गया। जिसके बाद कुछ ही देर बाद तबस्सुम की मौत हो गई। वहीं परिजनों का यह भी कहना है कि डिलीवरी कक्ष में मौजूद स्टाफ की लापरवाही के चलते महिला बेंच से गिर गई, जिससे उसकी मौत हो गयी।

अस्पताल में जमकर किया हंगामा
महिला की मौत के बाद आक्रोशित परिवारीजनों ने लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरु कर दिया। अस्पताल में तोड़फोड़ करने लगे। हंगामा देख महिला अस्पताल का स्टाफ भाग निकला। सूचना पर पहुंची पुलिस के आने के बाद भी परिवारीजनों का आक्रोश नहीं थमा। जिसके बाद सूचना अधिकारियों को दी गई।

जांच के बाद होगी कार्रवाई
जिस पर सिटी मजिस्ट्रेट राजितराम प्रजापति, सीओ सिटी अतिरिक्त फोर्स के साथ महिला अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों के कार्रवाई के आश्वासन पर परिवारीजनों को शांत कराया गया। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि मामले की जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
वीडियो-


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned