अवैध पार्किंग के विरोध में उतरी आम आदमी पार्टी

Yuvraj Singh

Publish: Oct, 19 2016 02:05:00 (IST)

Political
अवैध पार्किंग के विरोध में उतरी आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी ने एमसीडी पर अवैध पार्किंग, पार्किंग के नाम पर वसूली करने का आरोप लगाया है

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने एमसीडी पर अवैध पार्किंग और पार्किंग के नाम पर वसूली करने का आरोप लगाया है। मंगलवार को लक्ष्मीनगर से 'आप' विधायक नितिन त्यागी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि निगम में सत्ताधारी बीजेपी नेता और विपक्ष में मौजूद कांग्रेस नेताओं के करीबी अवैध पार्किंग के धंधे में शामिल हैं।

आप विधायक नितिन त्यागी ने बताया कि "स्कूटर-बाइक के लिए जहां 5 से 7 रुपए पहले से तय है, वहां पार्किंग माफिया 10 से 12 रुपए की वसूली कर रहे हैं। इसके अलावा कार के लिए जहां 10 रुपए प्रति 10 घंटे के लिए तय है, वहां पार्किंग माफियाओं ने 20 रुपए प्रति एक घंटे के हिसाब से वसूली कर रहे हैं। इन पार्किंग माफियाओं की तरफ  से मासिक पास के लिए 2500 से 3000 रुपए तक की अवैध वसूली की जाती है जबकि इसके लिए अधिकृत राशि 500 रुपए से 1000 रुपए तक ही है।"

आम आदमी पार्टी के मुताबिक त्यौहार नज़दीक हैं ऐसे में दिल्ली के बड़े बड़े बाज़ारों में पार्किंग को लेकर मारामारी रहती है। इसी बात का फायदा उठाकर पार्किंग माफिय़ा लोगों से जबरन वसूली करते हैं और आम लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। पीडब्ल्यूडी की सड़क पर सिंगल लेन के नाम पर डबल लेन पार्किंग की जाती है, जिससे सड़कों पर जाम लगता है और ट्रैफिक की समस्या भी बढ़ रही है। एमसीडी के पास मल्टीलेवल पार्किंग बनाने की कोई योजना नहीं है।

आप प्रवक्ता रिचा पांडे मिश्रा ने बयान जारी करते हुए कहा कि "भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और इन पार्किंग माफिय़ाओं ने पूरी दिल्ली को पार्किंग लॉट बना कर रखा है, जहां थोड़ी सी जगह भी पैदल चलने वालों के लिए नहीं छोड़ी है और इतना ही नहीं पार्किंग शुल्क के तौर पर अधिकृत राशि से तीन से चार गुना वसूली कर रहे हैं तो फिर वो पैसा कहां उपयोग में लाया जा रहा है? कहीं ऐसा तो नहीं कि ये सारा पैसा पार्किंग माफिय़ाओं और बड़ी-बड़ी गाडिय़ां और बड़े-बड़े बंगले रखने वाले भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के पार्षदों की जेब में जा रहा हो? दिल्ली के लोग यह जानना चाहते हैं कि अवैध तरीक़े से पार्किंग शुल्क के नाम पर उनसे जबरन वसूल किया जा रहा यह पैसा कहां और किसकी जेब में जा रहा है?"

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned