गुजरात में भी कांग्रेस के लिए आपसी लड़ाई बनेगी मुसीबत

Jameel Khan

Publish: Apr, 19 2017 09:02:00 (IST)

Political
गुजरात में भी कांग्रेस के लिए आपसी लड़ाई बनेगी मुसीबत

दरअसल कांग्रेस गुजरात में भी उसी हालात से गुजर रही है जो इस समय अन्य प्रदेशों के बने हुए हैं

नई दिल्ली। गुजरात में कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने को लेकर पार्टी में एक मत नहीं बन पा रहा है। प्रदेश का एक धड़ा शंकर सिंह वघेला को चेहरा बनाने को लेकर आलाकमान पर दबाव बनाए हुए जबकि दूसरा धड़ा इसकी
खिलाफत कर रहा है। इसके चलते पार्टी खासी दुविधा में है। इसके चलते गुजरात में भी हालात दिल्ली वाले बनते जा रहे हैं। पार्टी के कुछ नेता आने वाले दिनों में भाजपा का दामन थाम सकते हैं। हालंकि गुजरात को लेकर अभी आलाकमान की तरफ से किसी भी प्रकार कोई अधिकृत बयान नहीं दिया गया है।

दरअसल कांग्रेस गुजरात में भी उसी हालात से गुजर रही है जो इस समय अन्य प्रदेशों के बने हुए हैं। एक तरफ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से नियुक्त किए गए प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी है बाकी दूसरे तरफ पुराने कांग्रेसी नेता हैं। इन नेताओं को एक करने की कोशिश में प्रदेश प्रभारी गुरदास कामत ने कई प्रयोग वहां पर किए हैं। लेकिन संकट यही है कि धड़े एक नहीं हो पा रहे हैं। पुराने नेता इस कोशिश में हैं कि बघेला को कमान दे दी जाए। वघेला धड़े की तरफ से ही प्रशांत किशोर को जिम्मेदारी देने की बात भी की गई है। इससे वहां पर खींचतान और बढ़ गई है।

दूसरी तरफ प्रदेश प्रभारी कामत जो कि इस कोशिश में थे कि वहां के लिए प्रत्याशियों के नामों की घोषणा एक साल पहले कर देंगे अब तक कुछ तय नहीं कर पाए हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से उनके आग्रह के बाद भी अभी तक छानबीन समिति नहीं बनाई गई है  और ना ही चुनावी रणनीति को लेकर कोई चर्चा हो सकी है जिसका सीधा असर गुजरात कांग्रेस पर पड़ रहा है।जबकि दूसरी तरफ  भाजपा की तरफ से प्रधानमंत्री मोदी स्वयं दौरे शुरू कर चुके हैं। अध्यक्ष अमित शाह ने वहां के लिए भूपेंद्र यादव को प्रभारी बना गतिविधि शुरू कर दी हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned