J&K: पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में महबूबा मुफ्ती ने ली शपथ

Political
J&K: पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में महबूबा मुफ्ती ने ली शपथ

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर की भावी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहने का फैसला किया था, कांग्रेस ने कहा कि पीडीपी-भाजपा का गठबंधन अपवित्र है

श्रीनगर। महबूबा मुफ्ती जम्मू-कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री बन गई हैं। उन्होंने आज पद व गोपनीयता की शपथ ली। वहीं पिछली सरकार में शामिल अल्ताफ बुखारी की कैबिनेट से छुट्टी हो गई है। महबूबा राज्य की 13वीं मुख्यमंत्री बनी हैं।

निर्मल सिंह ने भी ली पद और गोपनीयता की शपथ
मुफ्ती मोहम्मद सईद की सरकार में उप मुख्यमंत्री रहे बीजेपी के डॉ. निर्मल सिंह को गवर्नर एनएन वोहरा ने  पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। माना जा रहा है कि निर्मल सिंह दोबारा राज्य के उप मुख्यमंत्री बनेंगे।

सरकार का ध्यान राज्य के शांति और विकास पर होगा
महबूबा (56) ने साफ कर दिया है कि सरकार का ध्यान शांति, सुलह और राज्य के विकास पर होगा। शनिवार को महबूबा ने इस बात से इनकार किया था कि पीडीपी और भाजपा के बीच विभागों के बंटवारे को लेकर मतभेद है। उन्होंने कहा था कि विभागों को लेकर हमारे बीच क्या मतभेद होगा? यह गठबंधन सरकार है और हम अलग अलग निकाय नहीं हैं।

वहीं कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर की भावी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहने का फैसला किया था। कांग्रेस ने कहा कि पीडीपी-भाजपा का गठबंधन अपवित्र है।

कांग्रेस के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता रवींद्र शर्मा ने कहा, हमने भावी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहने का फैसला किया है क्योंकि यह गठबंधन शुरू से अपवित्र है और उन्होंने एक बार फिर यह अपवित्र गठबंधन बनाया है।

87 में 56 विधायक सरकार के साथ
पीडीपी-बीजेपी गठबंधन के पास राज्य के 87 में से 56 विधायकों का समर्थन है। पीडीपी की राज्य में 27 और बीजेपी की 25 सीटें हैं। सरकार को सज्जाद गनी लोन की पार्टी पीपल्स कॉन्फ्रेंस के 2 और 2 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन हासिल है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned