NCP लीडर ने कहा- नौटंकी है शिवसेना-भाजपा के बीच का संघर्ष

Political
NCP लीडर ने कहा- नौटंकी है शिवसेना-भाजपा के बीच का संघर्ष

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (रांकापा) की लीडर और सांसद सुप्रिया सुले ने शिवसेना और भाजपा के बीच महाराष्ट्र में जारी चुनावी संघर्ष को'नौटंकी' करार दिया। 

ठाणे. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (रांकापा) की लीडर और सांसद सुप्रिया सुले ने शिवसेना और भाजपा के बीच महाराष्ट्र में जारी चुनावी संघर्ष को'नौटंकी' करार दिया। उन्होंने कहा, दोनों पार्टियों के बीच लड़ाई महज दिखावा भर है। सुले के मुताबिक़, "यह ठीक वैसी लड़ाई है जैसा किसी पति-पत्नी के बीच होता है और कुछ वक्त बाद उनमें समझौता हो जाता है। 

सुले ने गुरुवार को एक चुनावी रैली में कहा, शिवसेना और भाजपा ठगों की पार्टियां हैं और एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही हैं। इससे मतदाताओं का बढिय़ा मनोरंजन भी हो रहा है। उन्होंने कहा, दोनों पार्टियां अभी एक दूसरे की आलोचना कर रही है लेकिन चुनाव ख़त्म हो जाने के बाद सत्ता के लिए एक-दूसरे से हाथ मिला लेंगीं। लोगों को इस बनावटी लड़ाई पर भरोसा नहीं करना चाहिए। 

उद्धव ठाकरे ने लगाया था राकापा-भाजपा की दोस्ती का आरोप 

इससे पहले एक चुनावी सभा में उद्धव ठाकरे ने भाजपा और राकांपा के एक साथ होने का आरोप लगाया था। ठाकरे ने कहा था, "अब सिक्के नहीं चलते। मुहावरा बदलना पड़ेगा। मोदी और पवार एक ही कार्ड के दो बाजू हैं। चुनाव से पहले (मोदी) एनसीपी को 'नेचुरली करप्ट पार्टी बोलते थे। बाद में कहने लगे- पवार साहब की उंगली पकड़कर चुनाव में आया।" उद्धव ने यह भी कहा था, "अन्ना हजारे जिन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चलाया उन्हें पद्म भूषन मिला और देखिए जिनके ऊपर (पवार) भ्रष्टाचार के आरोप लगे उन्हें भी पद्मभूषण मिला। 

शिवसेना ने तोड़ दिया है गठबंधन 

महाराष्ट्र में इस वक्त नगरपालिका के चुनाव चल रहे हैं। मुंबई बृहनमहानगर पालिका चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर शिवसेना ने भाजपा के साथ तीन दशक पुराना गठबंधन तोड़ दिया है। शिवसेना, भाजपा पर लगातार तीखे हमले भी कर रही है। हालांकि वह राज्य और केंद्र में भाजपा की सरकार में शामिल है। पार्टी चीफ उद्धव ठाकरे ने साफ़ कहा है कि भाजपा सरकार को उनका समर्थन मुद्दों के आधार पर जारी रहेगा। 

21 फरवरी को डाले जाएंगे वोट 

मुंबई देश की सबसे बड़ी महानगरपालिका है। यहां 227 सीटों के लिए 21 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। शिवसेना और भाजपा के महानगरपालिका का चुनाव लड़ने वालों में कांग्रेस, मनसे प्रमुख पार्टियां हैं। इस वक्त भाजपा और शिवसेना की गठबंधन सत्ता में कायम था। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned