राष्ट्रपति चुनाव: 16 नामांकन दाखिल, 7 देखते ही खारिज

Political
राष्ट्रपति चुनाव: 16 नामांकन दाखिल, 7 देखते ही खारिज

 देश के 15 वें राष्ट्रपति के चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद 16 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन दाखिल किए हैं, लेकिन उनके खारिज होने की सम्भावना है, क्योंकि इनमें से किसी ने भी प्रस्तावक और अनुमोदकों के हस्ताक्षरयुक्त दस्तावेज नामांकन के साथ शामिल नहीं किए हैं।

नई दिल्ली। देश के 15 वें राष्ट्रपति के चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद 16 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन दाखिल किए हैं, लेकिन उनके खारिज होने की सम्भावना है, क्योंकि इनमें से किसी ने भी प्रस्तावक और अनुमोदकों के हस्ताक्षरयुक्त दस्तावेज नामांकन के साथ शामिल नहीं किए हैं। सात प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल किए जाने के साथ ही खारिज कर दिए गए, क्योंकि उन्होंने मतदाता प्रमाणपत्र और जमानत राशि जमा नहीं कराई। इस बीच चुनाव आयोग ने उस विशेष पैन की आपूर्ति के इंतजाम शुरू कर दिए है, जिनसे मतदाताओं को अपने वोट का अधिमान मतपत्र के लिफाफे पर दर्ज करना है।

अधिसूचना के दिन छह नामांकन
निर्वाचन अधिकारी अनूप कुमार के अनुसार 14 जून को अधिसूचना जारी होते ही छह नामांकन हुए। तमिलनाडु से पदमराजन, मध्यप्रदेश के आनन्द कुशवाह, तेलंगाना के बालाराज, मुम्बई की सायरा बानो मोहम्मद, उनके पति मोहम्मद पटेल, पुणे के कोंडेकर विजय शामिल हैं।  15 जून को दिल्ली के जीवन मित्तल, 16 जून को कानपुर के विजय व सरस्वती शर्मा और शामली के संजय, अलवर के लालाराम, मैनपुरी के अशोक सिंह और दिल्ली के वेर पाल सिंह ने पर्चा भरा। 

रेस टू रायसीना हिल्स
अनूप कुमार के अनुसार राष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए मतदाताओं की सूची जारी कर दी गई है। मतदाताओं में 233 मतदाता राज्यसभा सदस्य, 543 मतदाता लोकसभा सदस्य तथा 4 हजार 120 मतदाता राज्यविधानसभाओं के सदस्य हैं।  राज्यों में वोटों के अधिमान के हिसाब से सबसे कम अधिमान सात सिक्ïिकम के मतदाताओं का और सबसे अधिक 208 उत्तरप्रदेश के मतदाताओं का है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned