नगरोटा पर हंगामा, LS-RS की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

Political
नगरोटा पर हंगामा, LS-RS की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि नगरोटा में हुए इतने बड़े हमले पर रक्षा मंत्री को आकर संसद में बयान देना चाहिए

नई दिल्ली। बुधवार को जैसे ही संसद का सत्र शुरू हुआ वैसे ही विपक्ष ने लोकसभा में नोटबंदी और नगरोटा में हुए आतंकी हमले को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री भी सदन में मौजूद थे। राज्य सभा में भी कमोबेश यही हाल रहा। विपक्ष ने मांग की कि नोटबंदी के दौरान जान गंवाने वाले लोगों को सरकार मुआवजा दे। दोनों सदनों में हंगामे के कम होने के आसार नजर नहीं आ रहे थे जिसके बाद राज्यसभा और लोकसभा दोनों की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

जेटली और शरद यादव में हुई नोंक-झोंक
सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद नोटबंदी के कारण मरने वाले लोगों पर शोक प्रस्ताव पारित करने की मांग का समर्थन करते हुए शरद यादव ने कहा कि सरकार को इस बारे में संवेदनशील होना चाहिए। कतारों में लगे बुजुर्ग, महिला और बच्चों की मौत हो रही है। इस पर तमतमाते हुए जेटली अपनी सीट से खड़े हो गये और उन्होंने कहा कि यादव को नोटबंदी पर पहले अपनी पार्टी में चर्चा कर लेनी चाहिए और यह जांच लेना चाहिए कि क्या उनकी पार्टी उनके साथ है। सत्ता पक्ष के सदस्यों ने मेज थपथपाकर जेटली का समर्थन किया। यादव भी जेटली की बात सुनकर तैश में आ गए और कहा कि क्या आपके प्रधानमंत्री आपके साथ हैं। उन्होंने कहा कि नोटबंदी पर उनकी पार्टी का रुख साफ है। पार्टी नोटबंदी के बाद जनता को हो रही परेशानियों का विरोध करती है।

राज्यसभा की कार्यवाही दोबारा 12 बजे शुरू हुई लेकिन विपक्ष के हंगामें के कारण इसे दो बजे के लिए स्थगित करना पड़ा। विपक्ष नगरोटा और नोटबंदी के मसले पर हंगामा कर रहा था।




लोकसभा में कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया और टीएमसी के सुदीप्त बंधोपाध्याय ने लोकसभा अध्यक्षा सुमित्रा महाजन से मुलाकत कर नगरोटा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए मुलाकात की। इस पर सुमित्रा महाजन ने कहा कि ऑपरेशन अभी भी चल रहा है। जबतक पूरी जानकारी नहीं मिल जाती तबतक श्रद्धांजलि नहीं दी जा सकती।







लोकसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू होने के बाद अनंत कुमार ने कहा कि अगर विपक्ष तैयार हो तो सरकार नोटबंदी के हर मसले पर चर्चा करने के लिए तैयार है। लगता है इस बात का विपक्ष पर असर नहीं पड़ा और हंगामा जारी रहा। जिसके बाद लोकसभा को एक बार फिर 12:45 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

जब 12:45 में सदन की कार्यवाही फिर से शुरू हुई तब भी विपक्ष का हंगामा रुकने का नाम नहीं ले रहा था। ऐसे हालात को देखते हुए लोकसभी की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई।

राज्यसभा की कार्रवाई शुरू होने पर कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नगरोटा में हुए इतने बड़े हमले पर रक्षा मंत्री को आकर संसद में आकर बयान देना चाहिए।







नगरोटा अटैक को लेकर कांग्रेस की मांग है कि शहीदों को श्रद्धाजलि दी जाए। इसी पर राज्यसभा में कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने जमकर हंगामा किया। विपक्षी नेता राज्यसभा पीठासिन के वेल तक जा पहुंचे जिसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही को कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned