पहले काटो चक्कर फिर मिलेगा उज्जवला, बिना सूचना के लगा दिया कैंप

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Jun, 20 2017 07:25:00 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
पहले काटो चक्कर फिर मिलेगा उज्जवला, बिना सूचना के लगा दिया कैंप

उज्जवला योजना का लाभ पाना इन दिनों टेढ़ी खीर बना हुआ है। स्थिति यह है कि डीलर मनमानी करते हुए उज्जवला वितरण के लिए कही भी कैंप लगा दे रहा है।

रायगढ़. उज्जवला योजना का लाभ पाना इन दिनों टेढ़ी खीर बना हुआ है। स्थिति यह है कि डीलर मनमानी करते हुए उज्जवला वितरण के लिए कही भी कैंप लगा दे रहा है।

वहीं लंबी दूरी तय कर धूप में जाने के बाद भी हितग्राहियों को गैस नहीं मिल रहा है। सिर्फ चूल्हा देकर फोटो ही खिचवाया जा रहा है। इस तरह की स्थिति मंगलवार को केवड़ाबाड़ी में आयोजित शिविर में देखने को मिली। इससे हितग्राही परेशान हुए।

सरकार ने महिलाओं को धुआं से मुक्ति दिलाने के लिए उज्जवला योजना बनाई है। इस योजना के तहत पात्र हितग्राही महिलाओं को गैस सिलेंडर व चूल्हा के साथ रेग्युलेटर दो सौ रुपए में दिया जाना है,

लेकिन शासन की इस योजना का लाभ लेने के लिए महिलाओं को छोटे बच्चों के साथ पहले काफी पसीना बहाना पड़ रहा है। इस तरह की स्थिति मंगलवार को देखी गई।

खाद्य विभाग के द्वारा केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड के पास उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर वितरण के लिए शिविर लगाया गया था।

देखें वीडियो :


इस समय महिलाएं सिलेंडर मिलने की उम्मीद लगाए शिविर स्थल पहुंची, ताकि उन्हें गैस सिलेंडर मिलेगा और वे चूल्हा फूंकने के झमेले से मुक्त हो जाएंगी,

लेकिन जब वे शिविर स्थल पहुंची तो उन्हें सिर्फ चूल्हा व रेग्युलेटर ही मिला। गैस सिलेंडर देने के लिए चार दिन बाद का समय दिया गया। इसकी वजह से चिलचिलाती धूप में बच्चों के साथ शिविर स्थल पहुंची महिलाओं की उम्मीद भी टूट गई। वहीं महिलाएं मनमानी शिविर से भी परेशान हो रही है।

पांच बार डीलर ने किया इंकार- वार्ड क्रमांक 12 के एक हितग्राही की माने तो उसका  उज्जवला योजना में पात्र हितग्राही की सूची में नाम दर्ज है।

इसकी जानकारी उन्हें भी है। ऐसे में वे इंडेन गैस डीलर के बाद पिछले एक माह में करीब पांच से छह बार लगातार पहुंच चुकी है, लेकिन उन्हें सिलेंडर नहीं मिला। वहीं उसे केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड के पास लगाए गए शिविर में गैस कनेक्शन दिया गया। महिला का कहना था कि जब डीलर को शिविर में ही सिलेंडर देना था तो लगातार दौडऩे का कोई औचित्य ही नहीं है।

बच्चों के साथ पहुंची कई महिलाएं-
केवड़ाबाड़ी के पास लगाए गए शिविर में कई जगह की महिलाएं छोटे बच्चों के साथ पहुंची थी। इस शिविर में वार्ड क्रमांक 38 सोनूमुड़ा देवार पारा से नंदिनी भट्ठ व आशा शर्मा पहुंची थी। इन महिलाओं को सिर्फ चूल्हा व रेग्युलेटर दिया गया। इसके अलावा अन्य क्षेत्रों से भी महिलाएं पहुंची हुई थी।


56 हितग्राहियों का आवेदन जमा- योजना का संचालन बेहतर तरीके से नहीं किया जा रहा। मेरे वार्ड के 56 हितग्राहियों का आवेदन जमा किया गया था। इस आवेदन को डीलर के द्वारा गुमा दिया गया। ऐसे में कई बार डीलर के पास जाने के बाद आधे आवेदन मिले। इसमें से अब तक सात हितग्राहियों को ही कनेक्शन दिया गया है।
-लक्ष्मी नारायण साहू, पूर्व पार्षद, वार्ड क्रमांक 8

हितग्राही डीलर के पास बार-बार पहुंच रहे- शासन की योजना है। इस योजना के तहत हितग्राहियों को शिविर लगातार गैस कनेक्शन आवंटन करना अच्छी बात है, लेकिन जो हितग्राही डीलर के पास बार-बार पहुंच रहे हैं उन्हें मौके पर ही गैस कनेक्शन दिया जाना चाहिए, लेकिन डीलर के द्वारा मनमानी करते हुए हितग्राहियों को परेशान किया जा रहा है, जो गलत है।
-संजय देवांगन, पार्षद, वार्ड क्रमांक 6

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned