कोयले के डस्ट से पाट रहे सड़क, परेशान हो रहे हैं ग्रामीण

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Jan, 14 2017 06:50:00 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
कोयले के डस्ट से पाट रहे सड़क, परेशान हो रहे हैं ग्रामीण

जामंगा जाने वाले तिलगा-भगोरा मार्ग में लोगों का चलना दुभर हो गया है। इस मार्ग में पक्की सड़क नहीं बन पाने के कारण ग्रामीणों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

रायगढ़. जामंगा जाने वाले तिलगा-भगोरा मार्ग में लोगों का चलना दुभर हो गया है। इस मार्ग में पक्की सड़क नहीं बन पाने के कारण ग्रामीणों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

सड़क के उद्धार के लिए कई बार मांग की जा चुकी है, लेकिन विडबंना है कि सड़क सुधार की दिशा में किसी ने भी काम नहीं किया गया और अब इस मार्ग पर उद्योग के कोल डस्ट को सड़क के गड्ढों में पाटा जा रहा है। इससे क्षेत्र के लोगों की परेशानी पहले से अधिक बढ़ गई है।

संबंलपुरी से लेकर जामंगा सड़क पर दिन रात उद्योगों की ट्रक, डंपर चलती है। इससे जगह-जगह बड़े गड्ढे हो चुके हैं कि इस मार्ग पर चलने से आए दिन दुर्घटनाएं होती है।

ग्रामीणों ने बताया कि रोड के जीर्णोंद्वार के लिए पूर्व में कई आवेदन कलेक्टोरेट में दी जा चुकी है, लेकिन अब तक तिलगा-भगोरा मार्ग का उद्धार नहीं हो सका है।

गांव में डमरीकरण किया गया है, पर मुख्यालय को जोडऩे वाली सभी मार्ग जर्जरावस्था में है। ग्रामीणों ने बताया कि अब इस रोड पर कोल डस्ट को डाला जा रहा और सड़क के गड्ढो को पाटा जा रहा है।

इससे उद्योगों के भारी वाहनों को तो कोई फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन पैदल व दो पहिया वाहनों में आने-जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कोल डस्ट के कारण रात के समय लोग इससे फिसल कर गिर भी रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि बच्चों को स्कूल आना पड़ता है।

इससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसकी जानकारी पीडब्लयूडी के अधिकारियों को भी है, लेकिन सड़क निर्माण को लेकर कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है।

रात की परेशानी

ग्रामीणों ने बताया कि रात के समय इस मार्ग में थोड़ी भी रोशनी नहीं होती है। इससे यहां दुर्घटनाएं होती है। दिन भर काम करने के बाद ग्रामीण मुख्यालय

से अपने गांव जाते हैं तो रास्ते में कई बार सायकिल सड़क से किनारे खेत में चली जाती है। स्कूली बच्चों को भी आने-जाने में परेशानी हो रही है।

ये गांव हो रहे प्रभावित
इस रोड के नहीं बन पाने के कारण दर्जनों गांव प्रभावित हैं। इसमें बारदपाली, तिलगा, भगोरा, सपनई, सराईपाली, झरगुड़ा, कुम्हीबहाल, देवबहाल, बलभद्रपुर, नटवरपुर, सिकोसीमाल, मनुआपाली,

 सहित आसपास गांव के हजारों ग्रामीण समस्याओं से जूझ रहे हैं। यहां के ग्रामीण हर दिन मुख्यालय किसी न किसी काम से आते हैं, लेकिन सड़क के कारण काफी परेशान रहते हैं।

पूरा रोड नया बनेगा
रोड पूरी तरह से खत्म हो गया है। इस रोड पर कोल डस्ट के बजाए स्लैग डाल रहे होंगे। अब जब भी इसका निर्माण होगा, पूरा रोड ही नया बनेगा।
एके दिवान
कार्यपालन अभियंता, पीडब्लयूडी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned