देर रात तक माथापच्ची करने के बाद भी कॉलेज की सीटों पर नहीं निकाल पाए स्थायी समाधान

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Jul, 18 2017 12:15:00 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
देर रात तक माथापच्ची करने के बाद भी कॉलेज की सीटों पर नहीं निकाल पाए स्थायी समाधान

डिग्री कॉलेज में विज्ञान और गणित विषय में सीट की मारा-मारी को लेकर कॉलेल प्रबंधन ने स्थानीय स्तर पर सीट में फेरबदल करने का निर्णय लिया है।

रायगढ़. डिग्री कॉलेज में विज्ञान और गणित विषय में सीट की मारा-मारी को लेकर कॉलेल प्रबंधन ने स्थानीय स्तर पर सीट में फेरबदल करने का निर्णय लिया है।

सोमवार को देर रात तक बैठ प्रबंधन ने अन्य विषयों से सीट संख्या में कटौती करते हुए गणित व विज्ञान में सीट संख्या बढ़ाई है।

इसमें प्रबंधन ने सीट संख्या काटने के लिए ऐसे विषयों का चयन किया है जिसमें आवेदन काफी कम आते हैं। पूरे विषयों में प्रवेश के लिए आवेदन मिलने व फीस जमा करने की कार्रवाई होने के बाद अन्य विषयों के शेष बचे हुए सीट को उक्त दोनो विषयों में समायोजित करने का काम किया गया।

इसको देखते हुए गणित विषय में स्वीकृत सीट 175 से बढ़कर करीब 195 और विज्ञान में सीट बढऩे के बाद करीब 390 सीट उपलब्ध होने की बात कही जा रही है।

हांलाकि रात करीब 9 बजे तक सीट संख्या को लेकर पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ था। कालेज प्रबंधन की टीम समायोजन की प्रक्रिया में लगी हुई थी, जिसके कारण स्पष्ट स्थिति की जानकारी नहीं मिली।

लेकिन कॉलेज प्रबंधन ने चर्चा के दौरान बताया कि उक्त दोनो विषयों में करीब 5 प्रतिशत सीट अर्थात दोनो विषय में 20-20 सीट बढऩे की बात कही जा रही थी। डिग्री कॉलेज में कला संकाय में करीब 450 सीट है लेकिन इसमें किसी प्रकार की समस्या न होने के कारण इसमें कोई फेरबदल नहीं किया गया है।

इस कारण से बढ़ा कालेज में दबाव- ऑनलाइन सिस्टम होने व नियमों में फेरबदल होने के कारण इस बार पूरे जिले भर से आवेदन आए हैं।

इसके पहले पुसौर, सारंगढ़ और सरिया क्षेत्र के बच्चों को वहां प्रवेश के लिए भेजा जाता था लेकिन इस बार वहां प्रोफेसर व स्टाफ की कमी व आवेदन करने की छूट के कारण छात्र लीड कॉलेज में ही आवेदन कर रहे हैं। वहीं दूसरा प्रमुख कारण शहर में तीन सरकारी कॉलेज में एकमात्र कॉलेज में ही विज्ञान विषय होना है।

सीट बढ़ाने भेजा जाएगा प्रस्ताव- रूसा के तहत लीड कॉलेज को 1 करोड़ 40 लाख की स्वीकृति 8 कमरे के निर्माण के लिए मिला है। जिसमें 25 लाख रुपए मिले हैं जिसे पीडब्लयूडी को देकर निर्माण कराया जा रहा है।

इसीप्रकार राज्य शासन से 1 करोड़ रुपए 6 कमरों के लिए स्वीकृत हुआ है। दोनो का निर्माण अपूर्ण है। रूसा के अंतर्गत बन रहे कमरे का निर्माण पूरा होने के बाद 10 प्रतिशत सीट बढ़ाने का प्रस्ताव भेजे जाने की बात कही जा रही है। हलंाकि अभी इसमें काफी समय लगने की बात कही जा रही है।

क्या कहते हैं छात्र संगठन-
अभिाविप ने कहा ये-
अभाविप की लम्बे समय से चल रही मांग आंदोलन के बाद पूरी हुई। बीएससी में सीट वृद्धि और अतिथि व्याख्याताओं की नियुक्ति की मांग तत्काल पूरी की गई है। वहीं बीएससी ओर बीए का रिजल्ट भी यथाशीघ्र देने की बात कही गयी है। ये बातें अभाविप के प्रदेश सह मंत्री सुमीत शर्मा, प्रदीप राठौर, अविनाश चौहान, नरेंद्र ठेठवार, सौरभ सराफ, गोलू यादव, परमवीर सिंह, गौतम कसेरा, प्रियांश यादव, राजा सराफ, अंकित मिश्रा, बाबा वैष्णव और दीपा वैष्णव आदि ने कही।

युवा कांग्रेस ने कहा-
युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष लोकेश साहू ने डिग्री कॉलेज में सीट वृद्धि के मामले में कहा कि सीट संख्या में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है हमारे आंदोलन को शुरू से हाईजेक करने का प्रयास किया जा रहा है।

शासन से बिना अनुमति सीट संख्या में बढ़ोतरी नहीं हो सकती है। स्थानीय स्तर पर मारा-मारी को देखते हुए आंतरिक संशोधन किया जा रहा है। यह स्थायी हल नहीं है। हमारा आंदोलन जारी रहेगा। मंगलवार से क्रमिक अनशन शुरू हो रहा है। यह लगातार जारी रहेगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned