जाम में रोज पिसते हैं लोग, पर जब रेल अधिकारी की फंसी गाड़ी तो याद आई स्टेशन की पार्किंग व्यवस्था

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Jun, 20 2017 07:04:00 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
जाम में रोज पिसते हैं लोग, पर जब रेल अधिकारी की फंसी गाड़ी तो याद आई स्टेशन की पार्किंग व्यवस्था

रेलवे स्टेशन के बाहर डाउन साउथ बिहार एक्सप्रेस व पैसेंजर के आते के बाद प्रतिदिन जाम लगता है। पर रविवार की दोपहर जब रेलवे के आला अधिकारी की बोलेरो जाम में फंसी तो उन्हें पार्किंग व्यवस्था की याद आई।

रायगढ़. रेलवे स्टेशन के बाहर डाउन साउथ बिहार एक्सप्रेस व पैसेंजर के आते के बाद प्रतिदिन जाम लगता है। पर रविवार की दोपहर जब रेलवे के आला अधिकारी की बोलेरो जाम में फंसी तो उन्हें पार्किंग व्यवस्था की याद आई।

खुद को 10 मिनट तक परेशान होते देख अधिकारी गाड़ी में बैठे-बैठे ही उन्होंने पार्किंग कर्मचारियों को नसीहत देना शुरू कर दिया। वहीं कुछ स्थानों पर स्टॉपर लगाने का आदेश भी दे डाला। आला अधिकारी के आदेश पर स्टॉपर भी लगा दिया गया। जिससे सोमवार को कई बार विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई।

रेलवे इंजीनियरिंग विभाग के आला अधिकारी की गाड़ी जाम मेंं फंसने का मामला इस कदर गरमाया कि रेलवे स्टेशन के बाहर पूरी पार्किंग व्यवस्था में ही बदलाव करने की कवायद शुरु हो गई। कार स्टैंड के बगल से जाने वाली सड़क के दोनों छोर पर स्टॉपर लगा दिया। वहीं आरपीएफ व जीआरपी के पीछे वाली सड़क पर पार्किंग करने पर रोक लगा दी गई।

इसके अलावा कुछ और भी बदलाव किए गए है। सूत्रों की माने तो रविवार को शहर में दो व्यवसायी परिवार की शादी थी। जिनके मेहमान, साउथ बिहार एक्सप्रेस से आने वाले थे। ऐसे में, बाहर लग्जरी गाडिय़ों की भीड़ ज्यादा था। इस बीच ट्रेन आ गई और हमेशा की तरह स्कूल बस भी गुजर रही थी।

जिससे करीब 10 मिनट तक जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई। जिसमें रेलवे के आला अधिकारी अपने सहयोगी अधिकारी के साथ गाड़ी में फंस गए। खुद को जाम में फंसे रहने के बाद अधिकारी का गुस्सा फूट पड़ा। वहीं गाड़ी में बैठे-बैठे ही उन्होंने पूरे पार्किंग व्यवस्थाकी खोज-खबर लेनी शुरू कर दी।

जबकि स्थानीय लोगों की माने तो जगह के अभाव व शादी विवाह के मौसम मेंं यह स्थिति उत्पन्न होना स्वभाविक है। जिसे समझाइश देकर एक-एक गाडिय़ोंं को निकाला जता है। आला अधिकारी के पार्किंग संबंधी आदेश देने के बाद सोमवार को पूरे दिन कार पार्किंग को लेकर विवाद का महौल देखा गया।  

ट्रैफिक जवान भी नहीं देते ध्यान-  रेलवे स्टेशन पर दोपहर के समय जाम लगने की कहानी कोई नई नहींं है। उसके बावजूद ट्रैफिक विभाग के जवानों द्वारा नियमित रुप से जाम को खत्म करने को लेकर कोई पहल नहींं जाती है।

कोतवाली पुलिस के जवान भी खानापूर्ति कर चलते बनते हैं। जिससे काफी देर तक लोगों को जाम के खुलने का इंतजार करना पड़ता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned