आकाश इस्पात के एमडी व एक अन्य गिरफ्तार

Piyushkant Chaturvedi

Publish: Feb, 16 2017 03:13:00 (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India
आकाश इस्पात के एमडी व एक अन्य गिरफ्तार

कोतरलिया रेलपांत चोरी मामले मे आरपीएफ ने आकाश इस्पात के एमडी को गिरफ्तार किया है। वहीं इस घटना के मास्टर माइंड विनोद माराठा के सहयोगी राधे को भी धर दबोचा गया है। जिसे आरपीएफ एक बड़ी उपलिब्ध के रूप में देख रही है। आरपीएफ के जांच टीम की माने तो इस घटना का मास्टर माइंड भी बहुत ही जांच टीम की गिरफ्त में होगा।

रायगढ़. कोतरलिया रेलपांत चोरी मामले मे आरपीएफ ने आकाश इस्पात के एमडी को गिरफ्तार किया है। वहीं इस घटना के मास्टर माइंड विनोद माराठा के सहयोगी राधे को भी धर दबोचा गया है। जिसे आरपीएफ एक बड़ी उपलिब्ध के रूप में देख रही है। आरपीएफ के जांच टीम की माने तो इस घटना का मास्टर माइंड भी बहुत ही जांच टीम की गिरफ्त में होगा।

कोतरलिया रेल पांत चोरी मामले में आरपीएफ ने दो अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। जिसमें एक, आकाश इंडस्ट्रीज का एमडी कमल किशोर अग्रवाल है। जबकि दूसरा आरोपी राधेश्याम उर्फ राधे है। जो रेल पांत चोरी करने वाले मास्टर माइंड विनोद मराठा का दाहिना हाथ माना जाता है। विनोद के साथ राधे ने करीब एक दर्जन से अधिक रेलवे के अपराधिक मामलों को अंजाम दिया है। जो बड़ी ही मशक्कत के बाद आरपीएफ के हत्थे चढ़ा है। आरपीएफ की माने तो राधेश्याम व कंपनी के एमडी के गिरफ्तारी से बहुत सारे रहस्यों का खुलासा होने की उम्मीद है। जो इस रेल पांत चोरी मामले में अहम कड़ी बन सकती है। इससे पहले आरपीएफ ने गैंग के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया था। जिन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ करने के बाद जेल दाखिल किया जा चुका है। जो कोतरलिया से पार हुए रेल पांत को ट्रक की मदद से एक स्थान से दूसरे स्थान तक शिफ्ट किए थे।
ओडि़शा से लाते हैं मजदूर- रेल पांत चोरी मामले की जांच में आरपीएफ की जांच में यह बात सामने आई कि गैंग का सरगना, ऐसी घटनाओं को अंजाम देने के लिए ओडि़शा के संबलपुर से मजदूरों की खोज करता है। जो ठेका पद्धति के तहत किसी भी काम को आसानी से अंजाम देते हैं। कोतरलिया रेल पांत चोरी मामलें में इन्हीं मजदूरों से काम लिया गया था।
खंगाल रहे कुंडली - रायपुर के उरला में आकाश इंस्डट्रीज में छापा मारने के दौरान आरपीएफ को भारी मात्रा में रेल पांत बरामद हुए हैं। ऐसे में, आरपीएफ द्वारा कंपनी के एमडी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं कंपनी के इतिहास को भी खंगाला जा रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned