गुरुवार को न कटवाएं बाल वरना छोटी होती जाएगी आपकी उम्र

Ashish Gupta

Publish: Oct, 19 2016 06:45:00 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
गुरुवार को न कटवाएं बाल वरना छोटी होती जाएगी आपकी उम्र

बृहस्पतिवार के दिन की मान्यता है कि इस दिन शरीर पर साबुन लगाना, बाल धोना और कटवाना तीनों ही शुभ नहीं होता। इसके पीछे ज्योतिष और वैज्ञानिक दोनों कारण बताए जाते हैं।

रायपुर. गुरुवार को भगवान बृहस्पति देव की पूजा का विधान माना गया है। इस दिन पूजा करने से धन, विद्या, पुत्र तथा मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। लेकिन बृहस्पतिवार के दिन की मान्यता है कि इस दिन शरीर पर साबुन लगाना, बाल धोना और कटवाना तीनों ही शुभ नहीं होता। इसके पीछे ज्योतिष और वैज्ञानिक दोनों कारण बताए जाते हैं।

जानें गुरुवार के दिन क्या करें और क्या न करें
ज्योतिष के अनुसार मान्यता है कि बृहस्पतिवार का दिन देवताओं के गुरु बृहस्पति को समर्पित है। बृहस्पति देव संतान और ज्ञान के प्रधान देव हैं। गुरुवार को बाल कटवाने से आर्थिक हानि, संतान कष्ट व ज्ञान क्षीणता होने के आसार होते हैं।

धार्मिक दृष्टिकोण से माना जाता है कि बृहस्पतिवार का दिन लक्ष्मी नारायण का है इसलिए कहते हैं कि इस दिन बाल कटवाने अथवा धोने से आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

ज्योतिष के अनुसार अविवाहितों के लिए गुरुवार को बाल धोना और कटवाना विवाह में बाधाएं उत्पन्न करता है। अमर सुहाग चाहने वाली सुहागन महिलाओं के लिए इस दिन बाल धोना अच्छा नहीं माना जाता है।

बृहस्पतिवार को बाल कटवाना ही नहीं शेविंग करवाना भी अच्छा नहीं होता। कहते हैं कि इससे उम्र छोटी होती है।

शनिवार, मंगलवार और गुरुवार के दिन बाल न कटवाने की मान्यता है। इन तीन दिनों में ग्रहों से कुछ विशिष्ट किरणों का संचार होता है। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं। मस्तिष्क मानवीय काया का अहम अंग है। मस्तिष्क सिर में होता है और सिर के बीच का भाग बहुत संवेदनशील और कोमल होता है। इसकी सुरक्षा करते हैं हमारे बाल।

एेसे करें गुरुवार के दोष को दूर
अगर आपसे गुरुवार के दिन बाल काटने या धोने की गलती हो गई है तो इससे उत्पन्न गुरु दोष दूर करने के लिए आप देवगुरु बृहस्पति के तंत्रोक्त मंत्र का उपयोग कर सकते हैं। बल्कि तुरंत असर करने वाले हैं। जरूरत है इन्हें एक साथ निरंतर जपने की। इन चमत्कारी पांचों मंत्रों की जप संख्या 19 हजार है। आप किसी भी एक गुरु मंत्र का गुरुवार के दिन जप कर सकते हैं ...

ॐ बृं बृहस्पतये नम:

ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:

ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:

ॐ गुं गुरवे नम:

ॐ क्लीं बृहस्पतये नम:

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned