सावधान: कहीं आपने भी तो अपनी गाड़ी में नहीं डलवाया नकली कैस्ट्रॉल ऑयल

Raipur, Chhattisgarh, India
 सावधान: कहीं आपने भी तो अपनी गाड़ी में नहीं डलवाया नकली कैस्ट्रॉल ऑयल

राजधानी के देवपुरी इलाके में नकली ऑयल बनाने का मामला सामने आया है, आरोपी लंबे समय से कैस्ट्रॉल ऑयल के डिब्बे में नकली ऑयल भरकर लोगों को असली बताकर खपा देते थे

रायपुर. राजधानी के देवपुरी इलाके में नकली ऑयल बनाने का मामला सामने आया है, आरोपी लंबे समय से कैस्ट्रॉल ऑयल के डिब्बे में नकली ऑयल भरकर लोगों को असली बताकर खपा देते थे। शुक्रवार को रायपुर पुलिस की टीम ने छापेमार कार्रवाई कर भारी मात्रा में नकली ऑयल बरामद किया है। बहरहाल पुलिस दो आरोपियों को हिरासत में लेकर कार्रवाई कर रही है।

दरअसल मामला एेसा है कि देवपुरी में मोहित गुरबानी और निहित गुरबानी का सिमरन ऑयल के नाम से प्लांट है। यहां पर रिलॉयन के नाम से मोबिल ऑयल बनाते का काम चलता है। आरोपी रिलायॉन आयल आड़ में नकली कैस्ट्रॉल ऑयल बनाकर बजार में खपाते थे। आरोपी लगभग 2 सालों से नकली ऑयल बनाने और खपाने का काम कर रहे हैं।

fake Castrol oil factory

सूचना मिलने पर शुक्रवार को कैस्ट्रॉल के स्टेट इन्वेस्टीगेटिव अधिकारी अनिल मल्होत्रा की शिकायत पर टिकरापारा पुलिस ने ऑयल प्लांट में छापा मारा। दोपहर से देर रात तक कार्रवाई चली। पुलिस ने मौके से 22 कार्टन बरामद किए। एक कार्टन में 900 एमएल के 12 ऑयल डिब्बे हैं। आरोपी डिब्बे में रिफाइनरी ऑयल भरते थे और उस पर कैस्ट्रॉल ऑयल का लेबल चिपका देते थे। प्लांट में बड़ी संख्या में खाली डिब्बे और कैस्ट्रॉल कंपनी के स्टीकर मिले हैं।

fake Castrol oil factory

50 में से बचे केवल 9 कार्टन

एक कार्टून असली कैस्ट्रॉल ऑयल की कीमत बाजार में 3 हजार रुपए है और नकली ऑयल को 1600 रुपए में बेचा जाता था। आरोपी ने 50 कार्टन मंगवाए थे। इनमें कार्टन 41 मार्केट में खपा दिए गए, जबकि 9 बचे थे। रिफाइनरी तेल को एक ड्रम में भरा जाता था। उसके बाद टोटी के जरिए 900 एमएल के छोटे-छोटे डिब्बों में भरकर बेचते थे। मोहित के अलावा उसके भाई निहित के खिलाफ कॉपीराइट के अलावा धोखाधड़ी का अपराध भी दर्ज किया गया है।

टीकरापारा थाना टीआई राजेश चौधरी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने छापा मारा था। बड़ी संख्या में नकली ऑयल पकड़ा गया है। मामले की जांच की जा रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned