वन्यप्राणियों की अगली शिफ्टिंग के लिए हरी झंडी

Chandu Nirmalkar

Publish: Oct, 20 2016 01:06:00 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
वन्यप्राणियों की अगली शिफ्टिंग के लिए हरी झंडी

जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने दी अनुमति, जंगल सफारी में नंदनवन से वन्यप्राणियों की शिफ्टिंग की तैयारी पूरी

रायपुर . जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने जंगल सफारी में वन्यप्राणियों की अगली शिफ्टिंग के लिए हरी झंडी दे दी है। वहां से अनुमति मिलने के बाद प्रधानमंत्री दौरे के मद्देनजर जंगल सफारी में नंदनवन से वन्यप्राणियों की शिफ्टिंग की तैयारी  लगभग पूरी हो गई है। क्रोकोडायल और घडि़यालों को रखने के लिए खंडवा जलाशय से तालाब में पानी भरा जा रहा है। शिफ्टिंग के बाद वन्य प्राणियों की संख्या कुल लगभग 50 हो जाएगी। 25 अक्टूबर के बाद वन्यप्राणियों और क्रोकोडायल की शिफ्टिंग हो जाएगी। इधर जंगल सफारी के बाहरी हिस्से में पार्र्किंग, एडमिनिस्ट्रेशन और वेटिंग जोन का निर्माण अब भी जारी है।

इन सफारियों का काम पूरा
  1. टाइगर सफारी : यह सफारी 22.08 हेक्टेयर में बना है, जिसका काम अब पूरा हो चुका है। तीन टाइगर शिफ्ट भी किए जा चुके हैं। उद्घाटन के पहले एक टाइगर और लाया जा सकता है।
  2. लॉयन सफारी : यह सफारी 22.03 हेक्टेयर क्षेत्रफल में है। लॉयन की शिफ्टिंग अभी नहीं हुई है, लेकिन केज और बाडे़ का काम पूरा हो गया है, इसलिए नंदनवन से लॉयन अब लाया जा सकता है।
  3. बीयर सफारी : लगभग 20 हेक्टेयर में बने बीयर सफारी में भालुओं की शिफ्टिंग फरवरी में ही की जा चुकी है। अब इसमें बाहरी रंग रोगन का काम बाकी रह गया था, जो कि पूरा हो गया है।
  4. हरबीवर सफारी : सबसे बड़ा दायरा इसी सफारी का है। 30.89 हेक्टेयर में बने इस सफारी में विभिन्न जीव-जंतु के लिए अलग-अलग जोन बने हैं। इसमें सरीसृप से लेकर पक्षी की प्रजातियां होंगी। तैयारी भी लगभग पूरी हो गई है।
लाएंगे 30 और वन्यप्राणी
यहां चीतल, हिरण, भालू, टाइगर और लॉयन आदि मिलाकर कुल 20 वन्यप्राणी हैं। लगभग 30 वन्यप्राणियों की शिफ्टिंग दो खेप में और होगी। यहां 50 वन्यप्राणी हो जाएंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned