'वास्तुशास्त्र' के अनुसार घर के पास नहीं होना चाहिए फ्लाई ओवर

suryapratap gautam

Publish: Nov, 30 2016 09:58:00 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
'वास्तुशास्त्र' के अनुसार घर के पास नहीं होना चाहिए फ्लाई ओवर

वास्तुशास्त्र के अनुसार फ्लाई ओवर के आस पास नकारात्मक उर्जा ज्यादा रहती है।  वास्तु शास्त्र के अनुसार हवा और सूर्य का प्रकाश बिना...

पं देवनारायन शर्मा/रायपुर. वास्तुशास्त्र के अनुसार फ्लाई ओवर के आस पास नकारात्मक उर्जा ज्यादा रहती है।  वास्तु शास्त्र के अनुसार हवा और सूर्य का प्रकाश बिना रोक टोक घर में पर्याप्त रूप से प्रवेश करना चाहिए । फ्लाई ओवर प्राकृतिक उर्जा natural energy को आस पास के घरों में प्रवेश करने से बाधित करता है।


tension ,depresion -फ्लाई ओवर में तेज वाहनों की वजह से उर्जा का संतुलन बिगड़ जाता है ,ये नकारात्मक उर्जा negative energy आस पास के घरों के उर्जा को असंतुलित कर देता ही ।

 ये नकारात्मक उर्जा घर में तनाव,डिप्रेशन ,नींद का न आना आदि बीमारी को आमंत्रित करता है। यही वजह है कि फ्लाई ओवर के आस पास घर लेने से मना किया जाता है ।

Sound polusion फ्लाई ओवर के आस पास ध्वनि प्रदुषण अन्य रास्ते से कई गुना ज्यादा रहता है क्योंकि फ्लाई ओवर में वाहन की गति तेज होती है ,इससे घर की शांति भंग होती है । इस वजह से फ्लाई ओवर के पास रहने वाले लोग कान से सम्बंधित बीमारी का शिकार हो रहे हैं ।

आज शहरों में सबसे बड़ी समस्या प्रदूषण का होता है , शहरों में साँस लेना मुश्किल हो रहा है, फ्लाई ओवर के आस पास पर्यावरण प्रदुषण का स्तर भी अधिक होता है ।

एक साथ कई गाड़ियों के फ्लाई ओवर में प्रवेश करने की वजह से फ्लाई ओवर के आस पास के घरों में वाईब्रेशन [घर का हिलना ] होते रहता है ,इससे घर की शांति भंग होती है।

वास्तु शास्त्री की सलाह पर ही पिछले वर्ष प्रसिद्द गायिका लता मंगेशकर ने मुम्बई में अपने घर के पास बनने वाले फ्लाई ओवर का काफी विरोध किया था। लता मंगेशकर ने यहाँ तक कह दिया था कि मेरे घर के पास फ्लाई ओवर बनाया जाता है तो में मुंबई तक को छोड़ दूंगी ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned