नोटबंदी में पद्म विभूषण तीजन बाई को कैश के लिए गिरवी रखने पड़े जेवर

deepak dilliwar

Publish: Jan, 14 2017 10:42:00 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
नोटबंदी में पद्म विभूषण तीजन बाई को कैश के लिए गिरवी रखने पड़े जेवर

प्रसिद्ध पंडवानी गायिका पद्म विभूषण तीजन बाई भी नोटबंदी की मार से अछूती नहीं रहीं। उन्हें मकान बनवाने के लिए नकदी न होने पर अपने जेवर गिरवी रखने पड़े

रायपुर/भिलाई. प्रसिद्ध पंडवानी गायिका पद्म विभूषण तीजन बाई भी नोटबंदी की मार से अछूती नहीं रहीं। उन्हें मकान बनवाने के लिए नकदी न होने पर अपने जेवर गिरवी रखने पड़े, इसमें भी उनके ही निजी सचिव मनहरण सार्वा ने 17 हजार की हेराफेरी कर दी।  मामले का खुलासा तब हुआ जब तीजनबाई ज्वेलर्स के यहां अपना जेवर छुड़ाने गईं। उन्होंने भट्ठी थाने में सार्वा के खिलाफ अमानत में खयानत की शिकायत दर्ज कराई है। फिलहाल पुलिस ने सार्वा के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की है।

तीजनबाई के पोते नरेंद्र कुमार ने बताया, उनकी दादी भिलाई इस्पात संयंत्र से सेवानिवृत्त होने के बाद गृह ग्राम गनियारी में मकान बनवा रही हैं। नवंबर में नोटबंदी के बाद मकान निर्माण के लिए मटेरियल खरीदी एवं मजदूरों के भुगतान की दिक्कत हो गई। तब दादी ने सार्वा को ढाई तोले की चेन गिरवी रखकर 50 हजार रुपए लाने को कहा। सार्वा ने पॉवर हाउस के एक ज्वेलर्स के पास चेन गिरवी रखा और दादी को रकम लाकर दे दी।  सार्वा ने ज्वेलर्स से 67 हजार लिया, लेकिन तीजनबाई को 50 हजार रुपए ही दिए।

भिलाई भट्ठी थाना टीआई सुरेंद्र स्वर्णकार ने बताया कि तीजन बाई ने अपने निजी सचिव मनहरण सार्वा के खिलाफ गिरवी की रकम में हेर-फेर की शिकायत की है। सार्वा को पूछताछ के लिए बुलवाया गया है। इसके बाद एफआईआर दर्ज की जाएगी।

चलती ट्रेन से पार हुए तीजन बाई के गहने

नेशनल फेस्टिवल चलो थियेटर में प्रस्तुती देने गोंडवाना एक्सप्रेस से रोहतक जा रही पद्मभूषण तीजन बाई के गहने चोरी हो गए। पहली बार तीजन बाई को बिना गहनों के प्रस्तुती देनी पड़ी। इस घटना से दुखी तीजन बाई ने फोन से भिलाई पुलिस को सूचना दी।तीजन बाई के मुताबिक 6 किलो चांदी और सोने के गहने थे। जिनको पहनकर पंडवानी में महाभारत कथा सुनाती रही हैं। चोरी हुए गहनों में 3 किलो चांदी की करधन, अंगुठी, बाजूबंध, हाथों में पहने जाने वाला कड़ा, गले का हार शामिल है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned