फर्जी बिल लगाकर भुगतान की थी तैयारी

Rajgarh, Madhya Pradesh, India
फर्जी बिल लगाकर भुगतान की थी तैयारी

तीन मार्च,15 को ब्यावरा जनपद के माध्यम से सामूहिक मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत नि:शुल्क विवाह सम्मेलन आयोजित किया था। 


राजगढ़. तीन मार्च,15 को ब्यावरा जनपद के माध्यम से सामूहिक मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत नि:शुल्क विवाह सम्मेलन आयोजित किया था। जनपद द्वारा आनन-फानन में टेंडर जारी किए गए। इसमें टेंट, लाइट और भोजन आदि सभी के टेंडर राजगढ़ के साहू टेंट हाउस को मिले थे।

 कार्यक्रम खत्म होने के बाद टेंट हाउस द्वारा सभी बिल 26 जून को समिट करते हुए, उसकी पावती भी ले ली थी, लेकिन जनपद कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों की हद देखिए कि उन्होंने बिल लगने से पहले ही 7 जून को ही ब्यावरा के सौलंकी टेंट हाउस के नाम से लाइट, साउंड और टेंट का बिल बनाते हुए उस सूची में सिर्फ खाने के दो लाख तीन हजार रुपए दर्ज किए। जबकि कुल भुगतान पांच लाख 96 हजार का है।

जिसे भुगतान के लिए जावक क्रमांक 678/2016 सात जून को जारी कर दिया गया। इस फर्जी तरीके से होने जा रहे भुगतान पर साहू टेंट हाउस ने आपत्ति लगाई। इसके बाद फर्जी भुगतान तो रोक दिया गया, लेकिन साहू टेंट हाउस का भी आज तक भुगतान नहीं किया गया।

कलेक्टर से लेकर सीएम तक शिकायत
इस फर्जीवाड़े के साथ ही भुगतान न किए जाने की शिकायत टेंट हाउस और भोजन बनाने वाली एजेंसी ने सीईओ जिला पंचायत, कलेक्टर और मुख्यमंत्री तक को कर दी है। लेकिन अभी तक भुगतान नहीं किया गया। जबकि फर्जी तरीके से लगाए गए बिलों को लगभग भुगतान के लिए भेज दिया गया था। पूरा मामला साफ होने के बावजूद आज तक किसी पर कोई कार्रवाई भी नहीं हुई है कि आखिर किसके द्वारा फर्जी टेंट हाउस के नाम के बिल लगाए गए है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned