कलक्टर ने बताया: अब फोन ही होगा आपका बटुआ

Satya Narayan Shukla

Publish: Dec, 02 2016 12:02:00 (IST)

Rajnandgaon, Chhattisgarh, India
कलक्टर ने बताया: अब फोन ही होगा आपका बटुआ

नोटबंदी के बाद पैदा हो रही दिक्कतों को दूर करने के लिए अपने मोबाइल को बटुआ कैसे बनाकर काम करें, इसे लेकर लोगों को विस्तार से जानकारी दी गई।

राजनांदगांव. नोटबंदी के बाद पैदा हो रही दिक्कतों को दूर करने के लिए अपने मोबाइल को बटुआ कैसे बनाकर काम करें, इसे लेकर लोगों को विस्तार से जानकारी दी गई। आम लोगों और व्यापारियों को यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) और पीओएस (स्वैप) मशीन का उपयोग कर नगद की समस्या से निजात पाने का तरीका बताया गया।

जिले को कैशलेस बनाने

राजनांदगांव जिले को कैशलेस बनाने और लेन-देन में नगदी का उपयोग कम के लिए प्रशासनिक स्तर पर कवायद शुरू हो गई है। इसी कड़ी में आज नगर निगम सभाकक्ष में शहर के व्यापारियों, नगरीय निकायों के अधिकारियों और बड़ी संख्या में उपस्थित आमजनों की कार्यशाला हुई। कार्यशाला में मोबाइल के जरिए लेनदेन करने और स्वैप मशीनों को लेकर जानकारी दी गई।

स्वैप मशीनों और मोबाइल एप्स
कार्यशाला में कलक्टर मुकेश बंसल ने नगदी के स्थान पर बैंक खातों के माध्यम से सीधे भुगतान की विभिन्न तरीकों और सुविधाओं के बारे में जानकारी दी। कार्यशाला में लेन-देन में भुगतान के लिए नगद राशि के स्थान पर स्वैप मशीनों और मोबाइल एप्स के माध्यम से सीधे दुकानदारों के बैंक खातों में राशि भेजने के तरीकों पर विस्तार से जानकारी दी गई।

कैशलेस पेमेंट के सरल तरीके बताए
कलक्टर ने उपस्थित लोगों को एक साथ उनके मोबाइल पर यूपीआई एप डाउनलोड कराकर कैशलेस पेमेंट के सरल तरीके बताए। कार्यशाला में ही उपस्थित दुकानदारों ने कैशलेस पेमेंट प्राप्त करने के लिए अपनी दुकानों में स्वैप मशीनें लगाने आवेदन बैंक अधिकारियों को दिये।

पॉइन्ट ऑफ सेल मशीनों की स्थापना
कार्यशाला में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी चंदन कुमार, अपर कलक्टर जेके धु्रव सहित नगर निगम आयुक्त अश्वनी बंजारा और जिला सूचना विज्ञान अधिकारी सत्येश शर्मा भी शामिल हुए। कलक्टर बंसल ने दुकानदारों को अपने दुकानों में पॉइन्ट ऑफ सेल मशीनों (स्वैप मशीनों) की स्थापना के लिए उपस्थित लोगों को प्रोत्साहित किया।

मिला 10 हजार नगद
नोटबंदी के बाद पहली बार खाते में वेतन आने पर इसे कैश कराने की दिक्कत को देखते हुए शासन के कुछ विभागों में कर्मचारियों को उनके वेतन का 10 हजार रूपए नगद दिया गया शेष राशि उनके खाते में पहुंची। आज जनपद और जिला पंचायत में शिक्षाकर्मियो और थानों में पुलिस कर्मियों को सौ-सौ रूपए के नोट के रूप में दस-दस हजार रूपए का भुगतान किया गया।

कार्यशाला में यह जानकारी दी गई
मोबाइल फोनों पर यूपीआई एप सहित पेटीएम, फ्री चार्ज जैसे मोबाईल एप डाउनलोड कर उनका इस्तेमाल भी छोटे-छोटे भुगतानों के लिए करने की आदत डालने की भी सलाह दी। दुकानदारों को भी यूपीआई एप पर अपनी पहचान (आईडी) बनाकर दुकान में चस्पा करने की सलाह दी, ताकि ग्राहक अपने मोबाइल फोन से दुकानदार को उस आईडी के माध्यम से भुगतान कर सकें।

सीधे भुगतान पर जोर

500 और एक हजार मूल्य के नोटों को अमान्य कर देने के बाद छोटे दुकानदारों सहित आमजनों को खरीददारी और लेन-देन में हो रही परेशानी को ध्यान में रखते हुए अब सीधे भुगतान पर जोर दिया जा रहा है। एटीएम कार्ड सहित डेबिट-के्रडिट कार्ड और रूपए कार्ड का उपयोग कर खरीददारी में सीधे दुकानदार के खाते में राशि भुगतान के लिए जिले के सभी नगरीय निकायों में पॉईन्ट ऑफ सेल मशीनों की स्थापना की जायेगी।

दुकानदारों को हर संभव सहायता

स्वैप मशीनों की स्थापना के लिए राज्य शासन के निर्देश पर राजनांदगांव जिले के नगरीय निकायों में भी दुकानदारों को हर संभव सहायता एवं सुविधाएं देने के का आश्वासन भी दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned