कृषि सेवा सहकारी चुनाव: एकसाथ 17 नामांकन निरस्त होते किसानों ने किया जमकर हंगामा

Rajnandgaon, chhattisgarh, india
कृषि सेवा सहकारी चुनाव: एकसाथ 17  नामांकन निरस्त होते किसानों ने किया जमकर हंगामा

तीसरे चरण के चुनाव के तहत नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी हुई तो 31 सोसाइटियों में कुल 93 नामांकन निरस्त कर दिए गए। इसे लेकर गंडई और खैरागढ़ क्षेत्र की सोसाइटियों में हंगामा भी हुआ।

राजनांदगांव. सेवा सहकारी समितियों में संचालक मंडल के चुनाव को लेकर खूब राजनीति हो रही है। बैंक अध्यक्ष की कुर्सी पर कब्जा जमाने की चाह में चुनाव मैदान में उतरे नेता दूसरोंं का पत्ता साफ करने के लिए कई तरह के पैतरे आजमा रहे हैं। दबाव बनाकर नाम-निर्देशन पत्र तक निरस्त कराए जाने की शिकायतें सामने आई हैं।

3 जुलाई को तीसरे चरण का चुनाव
मंगलवार को तीसरे चरण के चुनाव के तहत नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी हुई तो 31 सोसाइटियों में कुल 93 नामांकन निरस्त कर दिए गए। इसे लेकर गंडई और खैरागढ़ क्षेत्र की सोसाइटियों में हंगामा भी हुआ। 3 जुलाई को तीसरे चरण का चुनाव होगा। 31 सोसाइटियों के लिए कुल 906 नामांकन पत्र जमा हुए थे। स्क्रूटनी के बाद 878 नामांकन पत्र वैध पाए गए। वहीं 93 अलग-अलग कारणों से निरस्त कर दिए। इनमें 8 महिला और 85 पुरुष किसानों के नामांकन पत्र हैं।

एक साथ 17 नामांकन निरस्त

नामांकन निरस्त होने पर गंडई क्षेत्र की सोसाइटी में किसानों ने आपत्ति की और शिकायत भी की है। खैरागढ़ क्षेत्र में भी यही स्थिति बनी रही। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष सचिन सिंह बघेल अमलीडीह सोसाइटी के संचालक मंडल सदस्य हैं, यहां एक साथ 17 नामांकन निरस्त कर दिए गए।

रिटर्निंग अफसर से वाद-विवाद

निर्वाचन अधिकारी उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं राजनांदगांव शिल्पा अग्रवाल ने बताया कि गंडई सोसाइटी में नामांकन पत्र निरस्त होने पर प्रत्याशियों ने रिटर्निंग अफसर से वाद-विवाद किया। वहीं तहसीलदार के पास भी शिकायत की गई है। स्कू्रटनी के बाद ही नामांकन निरस्त किए गए हैं।   

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned