ये क्या महाराष्ट्र का धान छत्तीसगढ़ में खपा रहे कोचिए

Satya Narayan Shukla

Publish: Nov, 30 2016 10:23:00 (IST)

Rajnandgaon, Chhattisgarh, India
ये क्या महाराष्ट्र का धान छत्तीसगढ़ में खपा रहे कोचिए

समीपस्थ ग्राम गैंदाटोला व अंचल की विभित्र सेवा सहकारी समितियों में कोचिया महाराष्ट्र से धान लाकर खपा रहे हैं।

राजनांदगांव/कल्लू बंजारी. समीपस्थ ग्राम गैंदाटोला व अंचल की विभित्र सेवा सहकारी समितियों में कोचिया महाराष्ट्र से धान लाकर खपा रहे हैं। कोचिया वहां से धान खरीदी कर यहां किसानों से ऋण पुस्तिका लेकर प्रबंधक व अन्य कर्मचारियों से मिलीभगत कर इस गोरखधंधा को अंजाम दे रहे हैं। इसमें कोचिया को तगड़ी कमाई हो रही है।

खरीदी शुरू होते ही कोचिए सक्रिय

उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार द्वारा सोसाइटियों के माध्यम से किसानों के उपज को समर्थन मूल्य में खरीदा जा रहा है। खरीदी शुरू होते ही क्षेत्र के धान कोचिया भी सक्रिय हो गए हैं। वे किसानों के नाम पर दूसरों का धान सोसाइटी में खपा रहे हैं।
कोचिया सीमावर्ती गांवों में धान खरीदने में लगे हैं।

बार्डर के सोसाइटियों में धान की बंपर आवक

महाराष्ट्र से कम कीमत में धान खरीदकर यहां खपा रहे हैं। क्षेत्र के व्यापारी व किराना व्यावसायी वर्तमान कम कीमत में किसानों से धान खरीदीकर उसे अपने घर में जाम कर लेते हैं।बाद में इसे अलग-अलग किसानों के नाम पर सोसाइटी में खपा देते हैं। इस कारण बार्डर के सोसाइटियों में धान की बंपर आवक हो रही है।

जांच होगी तो बड़ा खुलासा

इसकी जांच होगी तो बड़ा खुलासा होगा। महाराष्ट्र के गांव मुरमाड़ी, चिल्हाटी, तुमडीकसा, जंगल, मातेखेड़ा, वडेकसा, चिपोटा, महाक कोटरा, जबकसा, ऊंचेपुर आदि गांवों से धान खरीदी कर कोचिया यहां के सोसाइटियों में धान को शासन के समर्थन मूल्य पर बेच रहे हैं। कोचिया धान को वाहन के माध्यम से किसानों तक पहुंचाते हैं। इसके बाद किसान दूसरे दिन सोसाइटियों में धान लाते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned