बाबूलाल मरांडी बोले- नाकामी छिपाने का तरीका है नोटबंदी

Shribabu Gupta

Publish: Nov, 29 2016 08:05:00 (IST)

Ranchi, Jharkhand, India
बाबूलाल मरांडी बोले- नाकामी छिपाने का तरीका है नोटबंदी

देश का कालाधन लाने में नाकाम रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए नोटबंदी की है...

रांची। देश का कालाधन लाने में नाकाम रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी नाकामी छिपाने के लिए नोटबंदी की है। उक्त बातें झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी ने कही। वे सोमवार को नोटबंदी पर आयोजित धरना में बोल रहे थे। यहां अपने संबोधन में मरांडी ने नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी और केंद्र सरकार पर जमकर तंज कसे।

बाबूलाल ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार के दौरान 100 दिन में विदेशों से कालाधन लाने का वादा किया था। ढाई साल बाद भी इसमें नाकाम रहे, यहां तक कि लोगों का नाम तक उजागर नहीं कर सके। इस नाकामी को छिपाने के लिए देश में नोटबंदी का रास्ता अपनाया गया।

नोटबंदी के खिलाफ सोमवार को भारत बंद बुलाया गया था। झारखंड के विपक्षी नेताओं ने बंद की जगह धरना-प्रदर्शन कर आक्रोश दिवस मनाने का ऐलान किया था। इसी के तहत विपक्षी दलों ने रांची के बिरसा चौक पर धरना दिया। इसमें झाविमो, झामुमो, कांग्रेस, राजद, जदयू, मासस, सीपीआई (एम) व अन्य राजनीतिक दल के नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए।

मरांडी ने कहा कि प्रधानमंत्री विदेशों में बोलते हैं, लेकिन संसद में नोटबंदी पर जवाब देने से भाग रहे हैं। पूरे देश को आर्थिक संकट में डाला गया है। अगर इस पर जल्द ठोस कदम नहीं उठाया गया और स्थिति नहीं सुधारी गई तो सरकार के लिए आने वाला समय कठिनाई भरा होगा।

बाबूलाल ने कहा कि देश का हर व्यक्ति नोटबंदी से परेशान हैं। गांव के किसान, गरीब, मजदूर खाने के लिए मोहताज हैं। शादी, इलाज व अन्य जरूरी काम में बाधा आ रही हैं। केंद्र व राज्य की सरकार गरीब व किसान विरोधी हैं। विरोध करने पर लोगों पर गोलियां व डंडे बरसाए जाते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned