प्रशासन ने किया चुनावी शंखनाद

vikram ahirwar

Publish: Jun, 20 2017 07:42:00 (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
 प्रशासन ने किया चुनावी शंखनाद

2018 विधानसभा चुनाव की तैयारियों की शुरू, मतदाता जागरुकता अभियान चलाने के साथ बुलाई राजनीतिक दलों की बैठक


रतलाम। प्रदेश में वर्ष 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जिला प्रशासन ने अपनी तैयारियों का शंखनाद कर दिया है। इस संबंध में मंगलवार शाम प्रशासन ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में मतदाता जागरुकता अभियान के तहत प्रेसवार्ता आयोजित की। इसमें भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार स्पेशल ड्राइव के अंतर्गत नए मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोडऩे के लिए जिले में 1 से 31 जुलाई तक विशेष अभियान चलाया जाएगा।

इस अभियान के तहत 18 से 21 वर्ष की आयु के मतदाताओं पर विशेष मुख्य रूप से नजर रखी जाएगी। वहीं जेंडर रेशो व इपि रेशो में अंतर व अन्य त्रुटियों में सुधार किया जाएगा। इसके अतिरिक्त 22 जून को राजनीतिक दलों की बैठक भी बुलाई गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल और उप निर्वाचन अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर रंजीत कुमार ने पत्रकारों को अभियान के सबंध में विस्तृत रूप से जानकारी दी।

बूथ लेवल पर दिए निर्देश

नोडल अधिकारी ने बताया कि अभियान में बूथ लेवल के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे डोर टू डोर सर्वे में 1 जनवरी 2017 की स्थिति में 18 से 21 वर्ष के नए मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जुड़वाने के प्रयास करें।
वहीं मतदाता परिचय पत्र में सुधार, मृत मतदाताओं के नाम हटवाना व संसोधन से जुड़ी कार्रवाई भी करें। डोर-टू-डोर सर्वे में यदि कोई मतदाता छूट जाता है तो वह ईआरओ कार्यालय में आवेदन करने के साथ ही एनवीएसपी पोर्टल और कामन सर्विस सेंटर पर आनलाइन आवेदन कर सकता है।

बीएलओ को दिया प्रशिक्षण

अभियान से सबंधित की जाने वाली कार्रवाई के सबंध में विधानसभा स्तर पर बीएलओ को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। वर्तमान में किसी भी राजनैतिक दल द्वारा बीएलए की नियुक्ति की सूची निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध नहीं कराई है। सूची उपलब्ध होने के बाद उन्हे अलग से प्रशिक्षण दिया जाएगा।

एप से निकलेगी वोटर पर्ची

मतदाताओं की सुविधा के लिए पहली बार निर्वाचन आयोग ने मोबाइल एप्प भी शुरू किया है, जो आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध है। एप के माध्यम से मतदाता अपने आवेदन प्रस्तुत कर सकते है। इसके अतिरिक्त ईआरओ कार्यालय में जाकर, डाक से भेजकर, एनवीएसपी पोर्टल पर ऑनलाइन भेजकर व सीएससी पर ऑन लाइन प्रविष्टि की जा सकती है। इसके अतिरिक्त एप की मदद से वोटर पर्ची व मतदान केंद्र का पता भी लगा सकते है।

बनेगा राष्ट्रीय कॉल सेंटर
मतदाताओं की शिकायत सुनकर उसके निराकरण के लिए प्रकोष्ट आईटी से बनाकर शिकायतों को हल करना है। इसके लिए जिला स्तरीय कॉल सेंटर स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है। इसके चालू होते ही कोई भी व्यक्ति इसके माध्यम से उचित जानकारी प्राप्त कर सकता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned