@Railway- नई टाइल्स से जीएम के स्वागत के लिए तैयारी

Ratlam, Madhya Pradesh, India
@Railway- नई टाइल्स से जीएम के स्वागत के लिए तैयारी

इन सब के बीच स्टेशन को जीएम के लिए चमकाया जा रहा है। यहां जीएम के लिए नई टाइल्स लगाई जा रही है तो रंगाई-पुताई भी की जा रही है। 




रतलाम। इस वर्ष में तीसरी बार पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक जीसी अग्रवाल रतलाम मंडल के निरीक्षण पर आ रहे हैं। जब-जब वे आए तब-तब हर बार रेलवे स्टेशन पर टाइल्स बदलने से लेकर रंगाई-पुताई पर लाखों रुपए का खर्च किया गया। 

जीएम के लिए चमकाया जा रहा

जीएम अग्रवाल 7 दिसंबर को गोधरा से लेकर रतलाम तक ट्रैक, स्टेशन आदि का निरीक्षण करेंगे। रतलाम में अब तक उनका कोई कार्यक्रम नहीं बन पाया है। इन सब के बीच स्टेशन को जीएम के लिए चमकाया जा रहा है। यहां जीएम के लिए नई टाइल्स लगाई जा रही है तो रंगाई-पुताई भी की जा रही है। 

 हर बार 10 लाख रुपए का व्यय 

जीएम यहां करीब तीन से पांच घंटे रहेंगे। पूर्व में जीएम फरवरी व अप्रैल माह में आए थे। इसके अलावा तीन बार वे मंडल मुख्यालय से निकले। हर बार टाइल्स बदलने से लेकर गे्रनाइट के पत्थर बदलने में करीब हर बार 10 लाख रुपए का व्यय किया। इसके अलावा रंगाई-पुताई पर व्यय अलग किया। इन सब से यात्रियों को कोई लाभ नहीं हुआ। 

 अब भी प्लेटफॉर्म  ट्रैक गंदा है 

इसकी वजह ये कि अब भी प्लेटफॉर्म नंबर 4 से लेकर 7 नंबर तक का ट्रैक गंदा है व डे्रनेज सिस्टम खराब है। इसको ठीक करने के लिए काम नहीं किया है। इसके अलावा लिफ्ट लगने के काम की अब तक शुरुआत नहीं हुई है। इतना ही नहीं, प्लेटफॉर्म नंबर 5 व 6 को जोड़कर 7 नंबर पर जाने वाले एफओबी को मालगोदाम के बाहर तक विस्तारित किया, लेकिन उसकी अब तक अधूरे निर्माण की वजह से शुरुआत नहीं हो पाई है। 

पहले से तय था

 स्टेशन पर रखरखाव कार्य पहले से तय रहता है। रंगाई-पुताई हो या अन्य निर्माण कार्य अधिकारी आते हैं तो होना स्वाभाविक है।

 - जेके जयंत, जनसंपर्क अधिकारी, रतलाम रेल मंडल

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned