अब धरना दे हटवाएंगे शराब दुकान

vikram ahirwar

Publish: Apr, 21 2017 01:18:00 (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
अब धरना दे हटवाएंगे शराब दुकान

- बिरियाखेड़ी रोड की शराब दुकान हटाने आज धरना देंगे रहवासी - कलेक्टर के आश्वासन पर नहीं निकला हल, महिलाएं विरोध में


रतलाम। शहर के बिरियाखेड़ी चौराहा पर खुली नई शराब दुकान का विरोध गुरुवार को भी जारी रहा। दोपहर में रहवासियों ने कलेक्टर से चर्चा की, लेकिन परिणाम नहीं निकल सका।  आखिरकार रहवासियों ने शुक्रवार को शराब दुकान के सामने धरने का ऐलान कर दिया।  वहीं, ठेकेदार की सूचना पर शराब दुकान के बाहर कुछ आबकारी जवान तैनात किए हैं।
 शहर में जनआक्रोश के बाद स्थानांतरित होने वाली शराब दुकानों का नए स्थानों पर भी विरोध हो रहा है। सज्जन मिल रोड से हटाकर बिरियाखेड़ी चौराहा पर भेजी गई अंग्रेजी शराब दुकान का रहवासी विरोध कर रहे हैं। गुरुवार को रहवासियों ने अखिल भारतीय सनातन धर्मसभा एवं अखिल भारतीय क्षत्रिय जागरण मंच के बैनर तले शराब दुकान का विरोध किया। दोपहर में रहवासियों का एक प्रतिनिधि मंडल कलेक्टर कार्यालय पहुंचा एवं कलेक्टर बी चंद्रशेखर से चर्चा की। इस दौरान कलेक्टर ने रहवासियों के विरोध पर मामले के निराकरण का आश्वासन दिया, लेकिन रहवासी शराब दुकान तत्काल हटाने की मांग कर रहे थे। चर्चा का परिणाम नहीं निकलने पर रहवासियों ने शुक्रवार को प्रात: 11  से शाम 5 बजे तक शराब दुकान के सामने विरोध स्वरूप धरना प्रदर्शन का ऐलान कर दिया।

इसलिए हो रहा शराब दुकान का विरोध
विरियाखेड़ी चौराहा पर विदेशी शराब दुकान का विरोध तेज हो गया है। अखिल भारतीय सनातन धर्मसभा के मोहनसिंह सोलंकी ने बताया कि जहां दुकान खुली है, उसकी कुछ ही दूरी पर हठीलेश्वर महादेव मंदिर, हनुमान मंदिर, सांई मंदिर, दुर्गा माता मंदिर, शीतला माता मंदिर के साथ ही मस्जिद व गुरुद्वारा भी है। यही नही इसी रोड पर महिला प्रशिक्षण केन्द्र, रेडक्रास सोसायटी का स्वास्थ्य केन्द्र, वृद्धाश्रम, किशोर न्यायालय, बालिका छात्रावास, बाल संप्रेक्षण गृह, शासकीय कॉलेज एवं शासकीय मावि स्कूल भी मौजूद है।

तीन स्थानों से हटने बाद भी नहीं फैसला
शहर के सज्जन मिल रोड से हटाई गई शराब दुकान अब तक तीन क्षेत्रों में लगाने के लिए आबकारी विभाग ने अनुमति दी है, लेकिन हर बार जनआक्रोश के चलते स्थान बदलना पड़ा है। अब बिरियाखेड़ी में खुली इस दुकान का विरोध बढऩे लगा है। ऐसे में प्रशासन इसे हटाने का फैसला लेने में देरी कर रहा है, क्योंकि हाल ही में हाईकोर्ट ने प्रशासन के आदेश पर हटाई गई दो शराब दुकानों पर स्टे जारी कर दिया है। बिरियाखेड़ी दुकान कर करीब 9 क्षेत्रों के रहवासी खुलकर विरोध कर हटाने की मांग पर अड़े हुए हैं।

फिलहाल सूचना नहीं
बिरियाखेड़ी की शराब दुकान को स्थानांतरित करने संबंधी सूचना नहीं है। लोगों को प्रशासन ने आश्वस्त कराया है, दुकान को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है।
- यूएस जावा, जिला आबकारी अधिकारी रतलाम

शराब दुकान तो हटाना पड़ेगी
चौराहा पर शराब दुकान खोलकर प्रशासन क्या संदेश देना चाहता है, जबकि जहां दुकान खुली है, वहां महिलाओं का बाजार है। यहां शराब दुकान लगाना प्रतिबंधित है।
- मोहनसिंह सोलंकी, अध्यक्ष अखिल भारतीय सनातन धर्मसभा

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned