मंडी के प्लेटफार्मों पर रखे प्याज कट्टों में अंकुरित हो गए

vikram ahirwar

Publish: Jul, 17 2017 12:41:00 (IST)

Ratlam, Madhya Pradesh, India
मंडी के प्लेटफार्मों पर रखे प्याज कट्टों में अंकुरित हो गए

सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदा प्याज सड़कर बदबू मारने लगा


रतलाम। कृषि उपज मंडी में जहां एक नीलामी कार्य शुरू हो गया है, तो दूसरी तरफ प्लेटफार्म से नहीं हटाया गया प्याज सड़कर बदबू मारने लगा है। हालात ये है कि अब तो मंडी परिसर में आ जा रहे किसानों के साथ कर्मचारियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदा गया प्याज अब प्लेटफार्मों सड़ तो रहा है, अंकुरित भी हो चुका है। प्रशासन ने पूरा प्याज नीलामी में 204 रुपए प्रति क्विंटल के भाव में नीलाम कर दिया है, लेकिन जब तक यह प्याज यहां रख रहेगा बिमारी का घर बनता जाएगा। जब तक इसे नष्ट नहीं किया जाता, यहां नागरिकों के स्वास्थ्य तो खराब करेगा।


मंडी ने लिखा प्रशासन को पत्र
मंडी प्रशासन ने इस संबंध में जिला प्रशासन को पत्र लिखकर अवगत करा दिया है कि मंडी में सड़ा हुए प्याज से यहां आने वाले नागरिकों पर स्वास्थ्य खराब हो सकता है। परंतु अब तक प्याज मंडी में चहुंओर बिखरा पड़ा है। समर्थन मूल्य पर प्याज खरीदी मंडी में बंद होने के बाद भी परेशानी कम नहीं हो रही है। पिछले दो-तीन दिनों से हुई लगातार बारिश में प्लेटफार्मों के समीप पड़ा प्याज बहकर पूरे मंडी प्रांगण में बिखर गया। अब जहां से गुजरा प्याज ही प्याज की बदबू और रास्ते भी वही नजर आता है।


अब तक कई किसानों को भुगतान नहीं
समर्थन मूल्य प्याज सरकार ने 25 जून तक, 30 जून तक के टोकन देकर खरीदी की, लेकिन अब तक कई किसानों के खाते में रुपए नहीं पहुंचे हैं। मिली जानकारी के अनुसार 28 जून तक की ही राशि का भुगतान किया गया है, इसके बाद 29, 30 जून व 1, 2, 3 व 4 जुलाई के तौल किए गए प्याज के रुपए बाकि है। खरीदी केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार 22 करोड़ 53 लाख रुपए तक का भुगतान किया जा चुका है, जबकि साढ़े 6 करोड़ से अधिक रुपए देना शेष है। प्याज तौलकर्ता तुलावटियों को भी 24 जून तक के ही राशि का भुगतान किया गया है, जबकि दस दिन का भुगतान करीब 5-6 लाख रुपए शेष है। तुलावटियों की माने तो तौल के रूपए मांगने पर बजट नहीं होने की बात कह रहे हैं। केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार साढ़े 8 लाख रुपए से अधिक का तुलावटियों को भुगतान किया जा चुका है। जैसे ही बजट आ जाएगा बाकि राशि भी भुगतान कर दी जाएगी।


खराब प्याज की सफाई करवा रहे है
मंडी प्रांगण में सड़ रहे प्याज के संबंध में जिला प्रशासन को पत्र लिखा जा चुका है, कि इससे स्वास्थ्य खराब होंगे। वैसे मंडी परिसर में खराब प्याज जो बिखरा पड़ा है उसकी सफाई करवाई जा रही है। साथ ही सोमवार से राष्ट्रीय कृषि बाजार के अन्तर्गत ऑन लाइन चना खरीदी का कार्य भी शुरू किया जाएगा। इस संबंध में आज व्यापारियों को प्रशिक्षण भी दिया गया।
एमएल बारसे, सचिवकृषि उपज मंडी, रतलाम


इनका कहना...
किसानों को लगभग राशि दी जा चुकी है, कुछ को देना शेष है। चारों केंद्रों पर प्याज की नीलामी हो चुकी है। खराब प्याज जो मंडी प्रांगण में रखा हुआ है, उसकी जिला स्तरीय समिति उसका मुल्यांकन करेंगी। इसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा।
स्वाती राय, जिला विपणन अधिकारी, रतलाम

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned