अपर कमिश्नर न्यायालय से राजस्व की कई फाइलें ही हो गईं गायब

rajendra gaharwar

Publish: Apr, 22 2017 02:16:00 (IST)

satna
अपर कमिश्नर न्यायालय से राजस्व की कई फाइलें ही हो गईं गायब

कलेक्ट्रेट के सुरक्षाकर्मी की गायब फाइल का पता नहीं और दे दिया स्थगन आदेश, न्याय के लिए भटक रहे पक्षकार

रीवा। शहर के वार्ड-16 उर्रहट निवासी राजकुमार कुशवाहा एक साल से अपर कमिश्नर (राजस्व) के न्यायालय में चक्कर लगा रहे हैं। इस दौरान न्याय मिलना तो दूर पांच माह से उनकी फाइल ही गायब है। जिससे उनकी परेशानी और बढ़ गई है। कलेक्ट्रेट में बतौर सुरक्षाकर्मी पदस्थ राजकुमार ने बताया कि अपर कमिश्नर न्यायालय में 28-12-2016 को पेशी पर बुलाया गया था। पहुंचने पर शर्मा बाबू ने बताया कि फाइल नहीं मिल रही है। पांच माह बाद भी फाइल का अता-पता नहीं है। हालांकि इस बीच शपथ पत्र देने पर अपर कमिश्नर ने फौरीतौर स्थगन आदेश देकर पेशी के लिए अगली तारीख दे दी है। ये कहानी अकेले राजकुमार की नहीं बल्कि दर्जनों पक्षकार अपर कमिश्नर न्यायालय में भटक रहे हैं।

गेट पर पैर चढ़ाकर खर्राटे भर रहा अर्दली
शुक्रवार करीब 1.10 बजे अपर कमिश्नर न्यायालय के गेट पर अर्दली खर्राटे भर रहा था। इस दौरान कई पक्षकार आ-जा रहे थे। कई बार धक्का लगने के बाद भी नींद नहीं टूटी। हैरान करने वाली बात तो है कि अपर कमिश्नर न्यायालय में किसी तरह की सुरक्षा नहीं है। कोईभी किसी भी फाइल को उलट-पलट कर देख सकता है। यही कारण है कि न्यायालय में कई पक्षकारों की फाइलें नहीं मिल रही हैं।

तीन हजार से ज्यादा राजस्व प्रकरण लंबित
संभागायुक्त कार्यालय परिसर में अपर कमिश्नर न्यायालय में तीन हजार से ज्यादा राजस्व प्रकरण लंबित हैं। रीवा सहित सीधी, सतना, सिंगरौली से पक्षकार न्याय आकर भटक रहे हैं। कई प्रकरण तो सालों से लंबित पड़े हैं। पूछने पर बाबुओं ने बताया कि साहब की तबियत खराब है। कई दिनों तक छुट्टी पर हैं।

पहली पेशी पर ही नहीं मिली फाइल
अपर कमिश्नर कार्यालय में फाइलों के बेतरतीब रखरखाव के चलते पहलीबार पेशी पर पहुंचे पक्षकारों को भी परेशान होना पड़ रहा है। सेमरिया तहसील के अटरिया गांव निवासी तारेन्द्र पांडेय ने बताया कि तीन माह पहले जमीन पर कब्जा का प्रकरण दायर किया है। शुक्रवार को पहली पेशी पर बुलाया गया था, आने के बाद फाइल ही नहीं मिल रही है। इसी तरह सतना के मरौहा से आए पक्षकारों ने बताया उर्मलिया बनाम रामदरस की फाइल पिछले कई माह से नहीं मिल रही है। पक्षकारों ने कहा कि हर बार पेशी पर बाबू को खर्चा देने के बादवजू फाइल नहीं मिल रही है। बाबू का रटारटाया जवाब कुछ देर बाद आइए खोजकर रखूंगा, आने पर बता दिया जाता है कि अगली बार कोशिश करेंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned